भाजपा को हराने की ताकत सिर्फ सपा के पास : अखिलेश

लखनऊ । समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि 2019 और 2022 के प्रयोग से हम समाजवादी जान गए कि भाजपा को कोई हरा सकता है, तो वो सिर्फ सपा ही है।

लखनऊ में बुधवार को समाजवादी पार्टी का प्रदेश सम्मेलन आयोजित किया जा रहा है, जिसमें राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि 2019 में समाजवादियों ने बाबा साहब के सिद्धांतों के साथ भाजपा को लोकसभा सीटें हराई थी। हम सरकार बनाने में कामयाब नहीं हुए। लेकिन हमारी सीटें जरूर बढ़ीं। फिर हमने 2022 का चुनाव लड़ा था। इसमे सपा की सीटें दो गुना हो गई, यह सब समाजवादियों के कारण हुआ। इसमे हमने समान विचारधारा वालों के साथ मिलकर गठबंधन तैयार किया।

उसका नतीजा भी अच्छा रहा। मुझे खुशी है कि अभी तक का सबसे ज्यादा वोट इस चुनाव में हमें मिला था। सपा की सीट भी दोगुनी हो गई थीं। जीते भले ही नहीं, लेकिन कह सकता हूं कि 2019 और 2022 के प्रयोग से हम समाजवादी जान गए कि भाजपा को कोई हरा सकता है। तो वो सिर्फ समाजवादी पार्टी ही है।अखिलेश ने कहा कि हम देश की राजनीति को बदल देंगे। भाजपा ने झूठ बोलकर सरकार बनाई है।

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि समाज को बांटने वाली ताकतों को सत्ता से दूर करेंगे। कहा कि सपा सरकार ने जो काम किया था भाजपा उससे आगे कुछ भी नहीं कर पाई है। उन्होंने अपने भाषण में मेट्रो निर्माण और नदियों की सफाई आदि का मुद्दा उठाया।

अखिलेश ने कहा कि गंगा सफाई के नाम पर भाजपा सरकार में लूट हो रही। सपा सरकार में किसानों ने जमीन अधिग्रहण का कभी विरोध नहीं हुआ। किसानों को 3 गुना तक मुआवजा दिया। देश का सबसे बढ़िया आगरा एक्सप्रेस-वे सपा ने बनाकर दिया। फिर भाजपा सरकार ने इसी एक्सप्रेस-वे पर सुखोई उतारे थे। मेट्रो सबसे पहले यूपी में हमने चलाई। इन लोगों ने सिर्फ सत्ता का दुरुपयोग किया।

अखिलेश यादव भाजपा पर निशाना साधते हुए बोले कि सरकारी नौकरियों में बहुजन मिले आरक्षण से सरकार छेड़छाड़ कर रही है। ताकि सरकारी संस्थाएं ध्वस्त हो जाए और निजीकरण हो जाए। भाजपा सबसे बड़ी धोखेबाज, झूठी और षडयंत्रकारी पार्टी है। हर चुनाव में जनता को धोखा देने के लिए नए-नए झूठ गढ़ती है। हर बार नया जाति और वर्ग उसके निशाने पर। भाजपा नफरत और बदले की भावना से काम करती है।

सपा सम्मेलन के नवें सम्मेलन में में राजनीतिक व आर्थिक प्रस्ताव पेश किया गया। सपा के राजनीतिक प्रस्ताव में कहा कि भाजपा का यह कृत्य लोकतंत्र के लिए चुनौती है। भाजपा ने संवैधानिक संस्थाओं को कमजोर किया है। भाजपा संविधान का पालन क्यों नहीं करती हैं? भाजपा ने अपने चुनाव संकल्प पत्र में जो वादे किए थे उन्हें पूरा नहीं किया है। आम जनता को धोखा दिया जा रहा है। जनता अब जागरूक हो रही है ओर उसे यह भरोसा हो चला है कि समाजवादी पार्टी की सरकार में ही उसके हित सुरक्षित रह सकते हैं।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *