HindiJharkhand NewsNewsPolitics

हमारा प्रयास होगा कि असहायों को मदद करने में सहयोगी बने झालसा : जस्टिस अम्बुज नाथ

रांची, 16 जून । श्रीकृष्ण प्रणामी मंगल राधिका सदानंद सेवाधाम दिव्यांग आश्रम, पुंदाग में रविवार को अपना घर का शुभारंभ हुआ। साथ ही 21 निराश्रितों को अपना घर की सौगात भी मिल गयी। हाई कोर्ट के जस्टिस अम्बुज नाथ ने इसका उद्घाटन किया। पुलिस महानिदेशक अजय कुमार सिंह मुख्य अतिथि, मुख्य आयकर आयुक्त कुमार संजय और डीसी राहुल कुमार सिन्हा बतौर विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित थे।

जस्टिस अम्बुज नाथ ने कहा कि बेसहारों का सहारा बनना, लोगों की मदद करना सब चाहते हैं लेकिन कई कारणों से ऐसा कर नहीं पाते। उन्होंने कहा कि झालसा पहले सिर्फ असमर्थों को कानूनी सलाह से मदद करता था लेकिन अब इसका दायरा बढ़ गया है। यह मानसिक असहायों को भी लाभ पहुंचा रहा है। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास रहेगा कि इस पुनीत कार्य में झालसा भी सहयोगी बने।

डॉ माधुरी भारद्वाज ने कहा कि संतश्री के सार्थक पहल से देशभर में आठ आश्रम पहले से संचालित किये जा रहे हैं। राजधानी में यह नौवां अपना घर है। उन्होंने कहा कि यहां शारीरिक और मानसिक रूप से असहायों को चिकित्सा से लेकर जीवन उपयोगी सारी सुविधाएं मुफ्त दी जायेगी। दिल्ली से आये संस्था के सावरमल गोयल ने कहा कि इस सेवा कार्य के लिए चंदा नहीं मांगा जाता। ठाकुर जी की चिठ्ठी लगायी जाती है। उन्हीं की कृपा से कोई न कोई दानवीर आवश्यकता पूरी कर देता है।

संत सदानंद ने आशीर्वचन देते हुए कहा कि समाज में नर सेवा नारायण सेवा के भाव से कार्य करने वालों की कोई कमी नहीं है। बस कमी है तो सेवा लेने वालों की। अन्य राज्यों में इस तरह का अपना घर अपने उद्देश्यों को पूरा कर रहा है। झारखंड में यह पहला आश्रम है। जल्द ही इसे और विस्तार दिया जायेगा। समारोह के बाद संतश्री दिल्ली के लिए रवाना हो गये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *