P Chidambaram : नेताजी का प्रिय गीत बीटिंग द रिट्रीट में फिर शामिल करे सरकार: चिदम्बरम

नयी दिल्ली, 28 जनवरी : कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदम्बरम ने कहा है कि सरकार एक तरफ नेताजी सुभाष चंद्र बोस की मूर्ति स्थापना कर रही है तो दूसरी तरफ बीटिंग द रिट्रीट समारोह में गाये जाने वाले उनके प्रिय गीत को हटा रही है।
श्री चिदम्बरम में शुक्रवार को कहा कि सरकार ने नेताजी के इस प्रिय गीत को गणतंत्र समारोह से हटाने की बहुत बड़ी गलती की है और उसे अपना यह त्रुटिपूर्ण फैसला अब भी बदल देना चाहिए और इस गीत को फिर से बीटिंग द रिट्रीस समारोह में शामिल किया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा, “बीटिंग द रिट्रीट समारोह से इस गीत को हटाने की अक्षम्य गलती में सुधार करते हुए मोदी सरकार अब भी अपने इस फैसले को बदल सकती है। इस साल के अंत में जब सरकार नेताजी की प्रतिमा स्थापित कर उसका अनावरण करेगी तो क्या ‘एबाइड विद मी गीत’ बजाएगी।”

श्री चिदम्बरम ने कहा कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस के पोते तथा हार्वर्ड विश्वविद्यालय के प्रोफेसर सुगाता बोस ने भी कहा है कि नेताजी को ‘मेरे साथ रहो’ गीत की पंक्तियां बहुत पसंद थी। कांग्रेस नेता ने कहा कि आश्चर्य की बात है कि सरकार ने बीटिंग द रिट्रीट से इस गीत को हटा दिया है।

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कुछ दिन पहले भी इस गीत को लेकर कहा कि ‘अबाइड विद मी’ 1847 में लिखा गया एक ईसाई भजन था लेकिन अब यह महज एक ईसाई भजन नहीं रह गया बल्कि सार्वभौमिक भजन बन गया है, जिसका संबंध सभी धर्मों से हो गया है। साल 1950 से यह भजन बीटिंग द रिट्रीट समारोह का हिस्सा था।
उन्होंने कहा “मुझे और लाखों नागरिकों को दुख होता है कि गणतंत्र के 72वें वर्ष में भजन को हटा दिया गया है। भाजपा सरकार की असहिष्णुता इस हद तक पहुंच गई है कि उनके रवैये और अपमानजनक कार्यों की निंदा करने के लिए शब्द नहीं हैं।”

वार्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published.