पप्पू यादव ने बीपीएससी पेपर लीक मामले की सीबीआई जांच की मांग की

पटना, 14 मई । जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने सरकार से बीपीएससी पेपर लीक मामले में सीबीआई जांच की मांग की है। शनिवार को पटना के मंदिरी स्थित पार्टी कार्यालय में संवाददाता सम्मेलन कर उन्होंने जातिगत जनगणना, बीपीएससी पेपर लीक मामला और विश्वैसरैया भवन में आग लगने की घटनाओं पर सवाल खड़े किये।

राजेश रंजन ने कहा कि जातिगत जनगणना अभी कोई मुद्दा नहीं है। इसके बावजूद इसे इवेंट बनाया जा रहा है। दूसरी तरफ बीपीसीएसी पेपर लीक मामले को इसके जरिए दबाने का प्रयास किया जा रहा है। पप्पू यादव ने कहा कि लालू यादव हमेशा किंग मेकर की भूमिका में रहे। 15 सालों तक लालू यादव की सरकार बिहार में थी तो उन्होंने जाति जनगणना क्यों नहीं कराई।

उन्होंने तेजस्वी से कहा कि वो जातीय जनगणना के लिए बिहार वासियों को गुमराह कर रहे हैं। अगर वे सच में चाहते हैं कि जातीय जनगणना के आधार पर आरक्षण मिले तो सबसे पहले वे अपनी पार्टी में अत्यधिक संख्या में पिछड़ा और अति पिछड़ा समाज से आने वाले लोगों को मुख्यमंत्री का चेहरा घोषित करें।

जाप अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि कोचिंग माफिया और अधिकारियों की मिलीभगत से बिहार के युवाओं का करियर बर्बाद हो रहा है। बिहार के नौजवानों के अंदर गुस्सा है। सरकारी पदों पर बहाली के लिए करोड़ों रुपये की बोली लगाई जाती है। इस मुद्दे को सरकार और विपक्ष दबाने की कोशिश कर रहे हैं। क्योंकि, इसमें दोनों की मिलीभगत है। इसलिए हम चाहते हैं कि हाईकोर्ट की देखरेख में सीबीआई से इस मामले की जांच कराई जाय।

उन्होंने विश्वैसरैया भवन में आग लगने की घटना पर भी सवाल खड़ा किया। साथ ही कहा कि आग लगना संभव है लेकिन तीन दिन तक आग का नहीं बुझ पाना सवाल खड़ा करता है। बिहार में ही क्यों बार-बार सरकारी भवनों में आग लगती है।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published.