Partial lockdown in jharkhand : झारखंड में 31 जनवरी तक बढ़ा आंशिक लॉकडाउन

रांची, 15 जनवरी। झारखंड में कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए राज्य सरकार ने 15 जनवरी तक लगाई गईं विभिन्न तरह की पाबंदियों को अब 31 जनवरी तक लागू कर दिया है। आपदा प्रबंधन विभाग ने तमाम पुरानी पाबंदियों को आगे भी जारी रखने का निर्णय किया है। कोई नई पाबंदियां लागू नहीं की गई हैं। चार जनवरी को सरकार ने जिन पाबंदियों की घोषणा की थी, उसे ही विस्तार दे दिया गया है। शनिवार को हुई आपदा प्रबंधन विभाग की बैठक में यह जानकारी दी गई।

उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार ने 04 जनवरी को कई तरह की पाबंदियों को लागू किया था, उनकी मियाद 15 जनवरी को खत्म हो रही थी। इसलिए झारखंड सरकार ने पाबंदियों को एक सप्ताह के लिए विस्तार दे दिया है।

इस तरह की हैं पाबंदी

सभी पार्क, स्विमिंग पूल, जिम, चिड़ियाघर, पर्यटन स्थल, खेल स्टेडियम पूर्णत: बंद रहेंगे। स्कूल, कॉलेज, कोचिंग इंस्टीट्यूट भी 31 जनवरी तक बंद रहेंगे लेकिन इन संस्थानों में 50 प्रतिशत क्षमता के साथ प्रशासनिक कार्य होंगे। सरकार ने यह भी घोषणा की है कि 31 जनवरी तक सिनेमाहॉल, रेस्टोरेंट, बार एवं शॉपिंग मॉल 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खुलेंगे।

रेस्टोरेंट, बार एवं दवा दुकानें अपने नॉर्मल समय पर बंद होंगी। बाकी सभी दुकानें रात आठ बजे तक ही खुली रहेंगी। आउटडोर आयोजन में अधिकतम 100 लोग शामिल हो सकेंगे। सरकार ने यह भी घोषणा की है कि इनडोर आयोजनों में कुल क्षमता का 50 प्रतिशत या 100 दोनों में से जो कम हो, क्षमता के साथ आयोजन हो सकेंगे। सरकारी एवं निजी संस्थानों के कार्यालय 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खुले रहेंगे। बायोमेट्रिक अटेंडेंस पर प्रतिबंध रहेगा। सरकारी की ओर से घोषित इन पाबंदियों की मियाद 31 जनवरी तय कर दी गई है।

झारखंड में कोरोना संक्रमण की चिंताजनक स्थिति

झारखंड में हालात इतने खराब हो गए हैं कि बड़े पैमाने पर यहां कोरोना के मरीज सामने आने लगे हैं। स्वास्थ्य विभाग के गाइडलाइन के अनुसार अगर एक लाख की आबादी पर 15 से अधिक कोरोना मरीज पाए जाते हैं तो स्थिति क्रिटिकल माना जाता है। झारखंड में अभी यह स्थिति है कि यहां एक लाख लोगों पर 85 मरीज पाए जा रहे हैं। इससे स्थिति का अंदाजा लगाया जा सकता है। रांची जिले में तो और भी खराब स्थिति है। यहां एक लाख की आबादी पर 300 से अधिक संक्रमित पाए जा रहे हैं।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *