Petrol Price: पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमत पर सुब्रमण्यन स्वामी ने अपनी ही सरकार को घेरा, कहा- यह जनता का शोषण, लेवी हटाए सरकार

नई दिल्ली। पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों से आम जनता परेशान है। सोशल मीडिया पर उसका गुस्सा भी झलक रहा है। दूसरी तरफ विपक्षी दल भी सड़क पर उतरने लगे हैं। इस बीच बीजेपी से राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यन स्वामी ने पेट्रोल, डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर अपनी ही सरकार को निशाने पर लिया है। उन्होंने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा कि इस मुद्दे पर जनता की राय एक है कि कीमतों में बढ़ोतरी शोषण करने वाला है। सरकार को पेट्रोल, डीजल से लेवी हटाना चाहिए।

स्वामी ने ट्वीट किया, लोगों की आवाज शायद ही कभी स्पष्ट और बुलंद होती है। लेकिन कभी-कभी ऐसा होता है। पेट्रोल, डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर जनता में आम राय है (पॉर्न वेंडरों, आईफोन चोरों और फेक आईडी वाले ट्विटराती को छोड़कर) कि बढ़ती कीमत शोषण करने वाली है। इसलिए सरकार को लेवीज को हटाना चाहिए। दरअसल, पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार इजाफा हो रहा है। देश के कुछ शहरों में तो पेट्रोल की कीमतें सेंचुरी लगा चुकी हैं। शुक्रवार को देशभर में लगातार 11वें दिन दोनों ईंधन के दाम बढ़ाए गए हैं। दिल्‍ली में शुक्रवार को पेट्रोल 31 पैसे प्रति लीटर जबकि डीजल 33 पैसे प्रति लीटर मंहगा हो गया। पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों की वजह से जनता का गुस्‍सा भी बढ़ रहा है जो सोशल मीडिया पर झलक रहा है। कांग्रेस समेत विपक्षी दल भी पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ सड़कों पर उतरना भी शुरू कर दिया है।

महिला कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ का हवाला देते हुए दावा किया है कि सिर्फ कांग्रेस ही आम लोगों का ख्याल करती है। उसके ऑफिशल ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया, ‘बढ़ती कीमतों के बीच कांग्रेसशासित छत्तीसगढ़ में पेट्रोल 12 रुपये और डीजल 4 रुपये सस्ता है। सिर्फ कांग्रेस ख्याल रखती है। वहीं यूथ कांग्रेस के नेता श्रीवत्स ने पड़ोसी देश भूटान में पेट्रोल की कीमत भारत के मुकाबले आधी होने का हवाला देते हुए सरकार पर तंज कसा है। उन्होंने लिखा, ‘भूटान में सभी ईंधनों की सप्लाई भारत से होती है। भूटान में पेट्रोल की कीमत 50 रुपये हैं, भारत में पेट्रोल की कीमत 100 रुपये है। भूटानी देशविरोधी हैं जो भारतीयों की तरह देश के विकास के लिए भारी-भरकम टैक्स नहीं देना चाह रहे हैं। यह अच्छे दिन का जादू और खूबसूरती है।’

नए कृषि कानूनों के खिलाफ एनडीए से अलग होने वाले अकाली दल ने भी पेट्रोल, डीजल की कीमतों में इजाफे का विरोध किया है। मोदी सरकार में मंत्री रह चुकीं हरसिमरत कौर बादल ने बीजेपी के ‘अच्छे दिन’ के वादे पर तंज कसा है। साथ ही वह इस मुद्दे पर पंजाब की कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार पर भी हमले से नहीं चूकी। हरसिमरत ने ट्वीट किया, अभूतपूर्व टैक्स, पेट्रोल, डीजल और एलजीपी के आसमान छूते दाम आम लोगों की कमर तोड़ रहे हैं। बीजेपी के अच्छे दिन के वादे और कैप्टन अमरिंदर सिंह का गुटका साहिब पर लिया गया शपथ सिर्फ वोटों के लिए था। सरकारों को तुरंत टैक्स घटाने चाहिए।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *