कनेक्टिविटी के माध्यम से प्रगति, सुपर स्ट्रक्चर है सिमरिया पुल : नितिन गडकरी

बेगूसराय, 17 अक्टूबर । बेगूसराय और पटना के बीच गंगा नदी पर बन रहा एशिया का दूसरा और बिहार का पहला हाइब्रिड एन्युइटी मॉडल सिक्स लेन पुल 2023 तक बनकर तैयार हो जाएगा।

एशिया के सबसे चौड़ा और 1.8 किलोमीटर लंबा इस अत्याधुनिक पुल का शिलान्यास 14 अक्टूबर 2017 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा किया गया। उसके बाद से ही वेल स्पॉन एजेंसी की देखरेख में एसपी सिंगला कंपनी के द्वारा निर्माण कार्य युद्ध स्तर पर चल रहा है। 18 में से 15 पाया का निर्माण पूरा कर लिया गया है, जबकि नौ पाया पर सेगमेंट चढ़ाकर काम खत्म कर दिया गया है।

इस आधुनिक पुल का फोटो शेयर करते हुए केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में नए भारत में सड़क के बुनियादी ढांचे को मजबूत करना है। बिहार में उत्कृष्ट कनेक्टिविटी की दृष्टि से राष्ट्रीय उच्च पथ (एनएच-31) पर पहुंच सड़कों के साथ गंगा ब्रिज सहित औंटा-सिमरिया के लिए परियोजना प्रगति पर है।

नितिन गडकरी ने कहा है कि 1165 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाला यह खंड पटना जिले के मोकामा को बेगूसराय जिले के सिमरिया से जोड़ेगा। एक बार पूरा हो जाने के बाद इस खंड से सिमरिया घाट की धार्मिक तीर्थयात्रा को बहुत लाभ होगा। यह पटना के साथ संपर्क को और बढ़ावा देगा, इसके साथ ही आसपास के क्षेत्रों में आर्थिक विकास में वृद्धि होगी। नितिन गडकरी ने कहा है कि भारत में पहली बार, इस परियोजना में गंगा ब्रिज का निर्माण एक कुंए की नींव (सिंगल वेल फाउंडेशन) पर 34 मीटर चौड़ा सिक्स लेन कॉन्फिगरेशन सुपर स्ट्रक्चर शामिल होगा। ”कनेक्टिविटी के माध्यम से प्रगति” वह आकांक्षा है, जिसे हम अपने देश के हर कोने में हासिल करने के लिए काम कर रहे हैं।

बेगूसराय के सांसद-सह-केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के प्रतिनिधि अमरेन्द्र कुमार अमर ने बताया कि बेगूसराय प्रगति के दौर में 1960 के दशक में तब आया जब बिहार केशरी प्रथम मुख्यमंत्री श्रीकृष्ण सिंह ने गंगा पर राजेन्द्र पुल सहित रिफाइनरी, फर्टिलाइजर, थर्मल सहित औद्योगिक विकास की आकृति दी। अब नरेन्द्र मोदी के युग में बेगूसराय फोरलेन सड़क सह गंगा ब्रीज, रेलवे ब्रीज, रिफाइनरी क्षमता विस्तार, एचयुआरएल (खाद कारखाना), एनटीपीसी से सुसज्जित होकर नव कलेवर में दिखेगा।

उन्होंने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में नए भारत में सड़क के बुनियादी ढांचे को मजबूत करना तथा औद्योगिक विकास उनके एजेंडे में शामिल है, जिसका बेगूसराय को पूर्ण लाभ मिला। सिमरिया में तेजी से बन रहा पुल प्रगति का हाईवे गतिशक्ति है, बढ़ता बेगूसराय, बढ़ता प्रदेश, बढ़ता देश, यही है नरेन्द्र मोदी का संदेश।

उल्लेखनीय है कि आजादी के बाद पूर्वोत्तर भारत को देश के अन्य हिस्सों से जोड़ने के लिए मुख्यमंत्री डॉ. श्रीकृष्ण सिंह के नेतृत्व में यहां देश का पहला रेल-सह-रोड पुल बनाया गया था। 2005 के बाद पुल की स्थिति अधिक खराब हुई तो मरम्मत का खर्च भी बढ़ गया। लेकिन बार-बार मरम्मत के बावजूद लगातार दुरुस्त नहीं रह सका। अब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रयास से सिक्स लेन सड़क पुल के साथ डबल रेल पुल बनाने का काम तेजी से चल रहा है।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *