Rafale Aircraft : ‘राफेल’ भारतीय वायुसेना को और भी अधिक दुर्जेय सामरिक बल में बदल देगा : राष्ट्रपति

नई दिल्ली, 08 अक्टूबर । राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गुरुवार को 88वें वायु सेना दिवस पर सेना के योद्धाओं को सलाम करते हुए कहा कि लड़ाकू विमान ‘राफेल’ भारतीय वायुसेना को और भी अधिक दुर्जेय सामरिक बल में बदल देगा।

परमाणु हमला करने में सक्षम और कई घातक हथियारों से लैस राफेल पिछले दिनों ही भारतीय वायुसेना में शामिल हुए हैं। भारत ने फ्रांस से 36 राफेल विमान खरीदे हैं, जिनमें से 30 विमान लड़ाकू जबकि छह प्रशिक्षक विमान हैं। 29 जुलाई को 5 राफेल विमान भारत पहुंचे थे। आज हिंडन एयरबेस में आयोजित स्थापना दिवस समारोह में युद्धक विमानों के साथ पहली बार ‘राफेल’ भी सार्वजनिक करतब में शामिल हुआ।

राष्ट्रपति कोविंद ने ट्वीट कर कहा, वायु सेना दिवस पर हम अपने वायु योद्धाओं, दिग्गजों और भारतीय वायुसेना के परिवारों का गर्व के साथ सम्मान करते हैं। हमारे आसमान को सुरक्षित बनाने और मानवीय सहायता और आपदा राहत में नागरिक अधिकारियों की सहायता करने के लिए राष्ट्र वायुसेना के योगदान के लिए ऋणी है।

उन्होंने कहा, राफेल, अपाचे और चिनूक को शामिल करने के साथ आधुनिकीकरण की चल रही प्रक्रिया भारतीय वायुसेना को और भी अधिक दुर्जेय सामरिक बल में बदल देगी। विश्वास है कि आने वाले वर्षों में, भारतीय वायु सेना प्रतिबद्धता और क्षमता के अपने उच्च मानकों को बनाए रखना जारी रखेगी।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *