Rahul Protest For Justice : कांग्रेस नेता राहुल, प्रियंका द्वारा न्याय की मांग कर रहे आन्दोलन पर योगी सरकार का आलोकतांत्रिक हमला

क्या राहुल, प्रियंका के शरीर पर पड़ी लाठी की एक एक चोट योगी मोदी सरकार के पतन की कील होगी?

इनसाइट ऑनलाइन न्यूज़ डेस्क

नोएडा 01 अक्टूबर : उत्तर प्रदेश के हाथरस में जुल्म की शिकार हुई दलित बेटी के परिवार वालो से मिलने जा रहे कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के काफिले को पुलिस ने यमुना एक्सप्रेस के परी चौक क्षेत्र में ही रोक लिया | यमुना एक्सप्रेस वे पर रोके जाने के बाद प्रियंका और राहुल पैदल ही 142 किलो मीटर की दुरी हाथरस के लिये निकल पड़े जो देश में खासकर उत्तर प्रदेश में महिलाओ पर हो रहे हैवानियत को रोकने की दिशा में एक बड़ा सन्देश है।

उत्तर प्रदेश में लोकतंत्र की दुहाई देने वाली भाजपा की योगी सरकार ने कांग्रेस नेता राहुल गाँधी द्वारा शांति पूर्ण ढंग से अन्याय के विरुध किये जा रहे आन्दोलन को अपनी बर्बरता से भरी पुलिस के माध्यम से अलोकतांत्रिक ढंग से कुचलने का कु-शासन कार्य किया और देश को बता दिया की भाजपा ने अब तानाशाह का रूप धारण कर लिया है|

राहुल गाँधी और प्रियंका गाँधी पर योगी सरकार का जालिमाना हमला

घटनास्थल से मिले वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि पुलिस ने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को धक्का दिया जिससे राहुल गांधी जमीन पर गिर गए। पुलिस के जालिमाना बरताव में योगी के तानाशाही रवाए की तस्वीर दखाई दे रही थी ऐसा लगता था कि पुलिस उनकी गद्दी को बदनुमा दाग से बचने का असफल प्रयास कर रही है |

राहुल गांधी ने मीडिया से कहा, अभी-अभी पुलिस ने मुझे धक्का दिया, मुझ पर लाठीचार्ज किया और मुझे जमीन पर फेंक दिया। मैं पूछना चाहता हूं, क्या इस देश में केवल (नरेंद्र) मोदीजी ही चल सकते हैं? क्या कोई सामान्य व्यक्ति नहीं चल सकता? हमारा वाहन रोक दिया, तो हमने चलना शुरू कर दिया।

योगी सरकार द्वारा शांति पूर्ण आदोलन करने वाले कांग्रेस नेता राहुल गाँधी पर जो बर्बरता पूर्ण व्यवहार हुआ घटना स्थल की बोलती कुछ तस्वीरे :-

काफिले में उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू समेत अन्य वरिष्ठ नेताओं के अलावा बड़ी संख्या में कार्यकर्ता चिलचिलाती धूप में साथ चल रहे थे । कार्यकर्ताओं को रोकने के प्रयास में पुलिस से फिर झडप हुयी ।

बाद में उत्तर प्रदेश पुलिस ने राहुल गांधी को कहा कि उन्हें गिरफ्तार किया जा रहा है क्योंकि वह एक ऐसे क्षेत्र में मार्च कर रहे थे जहां धारा 144 लगाई गई है। राहुल गांधी ने कहा कि भले ही धारा 144 लगा दी गई हो, वह दुष्कर्म पीड़िता के परिवार से मिलने के लिए अकेले हाथरस की ओर जाएंगे। उसके बाद पुनः पुलिस और कांग्रेस नेताओं में तीखी बहस होने लगी।

अंतत अतिरिक्त डीसीपी गौतमबुद्धनगर, रणविजय सिंह ने कहा कि राहुल गांधी को गिरफ्तार किया गया है और उन्हें आगे जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी क्योंकि पुलिस के पास डीएम हाथरस का एक पत्र है जिसमें कहा गया है कि यदि राहुल गांधी वहां जाते हैं, तो यह कानून तोड़ सकते हैं। राहुल गाँधी और अन्य कांग्रेस नेताओ को गिरफ्तार कर बुद्ध इंटरनेशनल सिर्किट गेस्ट हाउस में पहुंचा दिया गया |

Leave a Reply

Your email address will not be published.