Rajasthan News Update : 64 प्रतिशत चुनावी वादे पूरे किए: मुख्यमंत्री

जयपुर। छत्तीसगढ़ के गृह मंत्री और कांग्रेस घोषणापत्र कार्यान्वयन समिति के अध्यक्ष ताम्रध्वज साहू और सांसद अमर सिंह कांग्रेस आलाकमान द्वारा दिए गए निदेशरें के अनुसार राजस्थान कांग्रेस के घोषणापत्र में किए गए वादों की स्थिति का मूल्यांकन करने के लिए शनिवार को जयपुर में थे। घोषणापत्र क्रियान्वयन समिति की बैठक शनिवार को मुख्यमंत्री आवास पर हुई जहां अशोक गहलोत ने कहा कि किए गए वादों में से 64 फीसदी पूरे हो चुके हैं। उन्होंने कहा, कुल 501 में से 321 वादे पूरे किए गए।

साहू ने गहलोत के नेतृत्व में राज्य सरकार द्वारा की गई प्रगति पर भी संतोष व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि घोषणा पत्र में किए गए वादों को पूरा करने के लिए जिस तेजी से प्रयास किए जा रहे हैं वह काबिले तारीफ है। उन्होंने कहा कि इससे न केवल समाज के सभी वर्गों को राहत मिलेगी, बल्कि राजस्थान का समग्र विकास भी होगा।

डॉ अमर सिंह ने कहा कि राजस्थान सरकार द्वारा गांवों, गरीबों, किसानों, युवाओं, महिलाओं और अन्य जरूरतमंद वर्गों के लिए चलाए जा रहे कार्यक्रमों और योजनाओं ने अन्य राज्यों के लिए भी एक मिसाल कायम की है। उन्होंने राज्य सरकार की उपलब्धियों से लोगों को अवगत कराने के लिए विशेष प्रयास करने पर जोर दिया।

ताम्रध्वज साहू की अध्यक्षता वाली समिति की यह दूसरी बैठक है, पहली बैठक पिछले साल 25 सितंबर को हुई थी। इस बीच जयपुर पहुंचकर साहू ने मीडिया से कहा कि वह सोनिया गांधी के आदेश पर पिंक सिटी में घोषणापत्र क्रियान्वयन समिति की बैठक की अध्यक्षता करने आए थे।

उन्होंने कहा, “कांग्रेस के घोषणापत्र पर राजस्थान सरकार द्वारा किए गए कार्यों की समीक्षा करेंगे। समीक्षा के बाद आलाकमान को रिपोर्ट करेंगे।” घोषणापत्र कार्यान्वयन समिति का गठन पिछले साल जनवरी में सोनिया गांधी ने किया था।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दो नेताओं के आने से पहले ट्वीट किया, “कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा गठित घोषणापत्र समिति के अध्यक्ष ताम्रध्वज साहू और सांसद अमर सिंह जयपुर आएंगे और घोषणापत्र के क्रियान्वयन को लेकर दूसरी समीक्षा बैठक करेंगे। पिछले साल 25 सितंबर को भी घोषणा पत्र के क्रियान्वयन की स्थिति जानने के लिए एक समीक्षा बैठक बुलाई गई थी। पहले की तरह हमारी सरकार ने चुनावी घोषणा पत्र को नीति दस्तावेज बनाकर काम किया है। मुझे खुशी है कि हम सबसे अधिक पूरा करने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं।”

28 जुलाई को जब कांग्रेस प्रभारी अजय माकन कांग्रेस विधायकों के साथ आमने-सामने बातचीत करने जयपुर आए थे, तो गहलोत ने अब तक की घोषणाओं पर किए गए कार्यों की समीक्षा के लिए सभी मंत्रियों और अधिकारियों से मुलाकात की।
सरकार गठन के बाद बुलाई गई पहली कैबिनेट बैठक में कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र को आधिकारिक नीति दस्तावेज घोषित किया था।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *