राजस्थान : बारिश से कच्चे मकान की छत गिरने से एक की मौत

जयपुर, 2 अगस्त । राजस्थान में अगस्त और सितम्बर में मानसून के अगले दौर में दोबारा झमाझम होने की उम्मीद बलवती हो रही है। मौसम विभाग के अनुसार तीन अगस्त से मानसून ट्रफ लाइन एक बार दोबारा अपनी सामान्य स्थिति की तरफ शिफ्ट होगी। इसके चलते आगामी 24 घण्टे के दौरान कोटा, अजमेर, भरतपुर, जयपुर, बीकानेर और जोधपुर संभाग के कुछ जगहों पर अच्छी बारिश होगी। चार अगस्त को कोटा संभाग व आसपास के जिलों में कहीं-कहीं भारी बारिश होने की संभावना है। तीन से पांच अगस्त के बीच प्रदेश के अधिकांश इलाकों में तेज हवा के साथ बारिश हो सकती है। बारिश के कारण बीकानेर जिले के छत्तरगढ़ स्थित भांडसर गांव में कच्चे मकान की छत गिर जाने से एक की मौत हो गई।

छतरगढ़ एसएचओ जय कुमार भादू ने बताया कि भांडसर गांव में बारिश के कारण नत्थू खां 30 पुत्र सत्तार खां के मकान की छत गिर गई, जिससे कमरे में बैठा नत्थू खां, उसकी पत्नी अमीरा 28, ढाई साल का बेटा जावेद एवं रजीब पुत्र अकरम खां मलबे में दब गए। ग्रामीण व परिवार के लोग उन्हें मलबे से निकाल कर स्थानीय अस्पताल ले गए। अस्पताल में नत्थू खां को चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया जबकि घायलों का प्राथमिक उपचार कर पीबीएम अस्पताल के लिए रेफर कर दिया।

जयपुर मौसम केन्द्र के मुताबिक राज्य में मंगलवार को उत्तर पूर्वी क्षेत्र में कुछ जगहों पर हल्की बारिश होने की संभावना है। वहीं अधिकांश जगहों पर मौसम साफ रह सकता है। बीते 24 घंटे में मंगलवार सुबह तक सबसे ज्यादा बारिश टोंक में 96, बीसलपुर डेम में 67, कुचामन में 61, जयपुर के छप्परवास में 17, भरतपुर के सेवला हेड में 50, अलवर के सिलीसेट 58, अलवर में 37 मिलीमीटर हुई। बुधवार से पूर्वी और पश्चिमी राजस्थान के हिस्सों में मानसून सक्रिय होगा और बारिश का दौर शुरू होगा। मौसम विभाग के मुताबिक जयपुर, अजमेर, अलवर, भरतपुर, भीलवाड़ा, बूंदी, दौसा, धौलपुर, जयपुर, झुंझुनू, करौली,सवाई माधोपुर, सीकर, टोंक में मध्यम से भारी बारिश होने के आसार हैं।

जुलाई में मानसून की बारिश कोटा में सबसे ज्यादा 513.4 मिलीमीटर हुई। जो औसत से 92 फीसदी ज्यादा रही। पूर्वी राजस्थान के 16 जिलों में जुलाई में 300 मिलीमीटर से ज्यादा बारिश हुई। श्रीगंगानगर में औसत से 235 फीसदी से ज्यादा बारिश मापी गई। हालांकि इतनी बारिश के बाद भी सवाई माधोपुर और भरतपुर में औसत से कम बारिश हुई है। जयपुर सहित अन्य जिलों की लाइफलाइन वाले बीसलपुर बांध में बीते 24 घंटे में मंगलवार सुबह तक चार सेंटीमीटर पानी की आवक हुई। सुबह बांध का जलस्तर 310.60 आरएलमीटर मापा गया। वहीं त्रिवेणी का गेज तीन मीटर रहा।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published.