Ram Vilas Paswan : राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, नड्डा समेत तमाम नेताओं ने पासवान को दी अंतिम विदाई

  • पासवान का पार्थिव शरीर आज ही ले जाया जायेगा पटना, कल होगा अंतिम संस्कार

नई दिल्ली, 09 अक्टूबर । राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी समेत तमाम वरिष्ठ नेताओं व केंद्रीय मंत्रियों ने लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) संस्थापक व केंद्रीय मंत्री स्व. रामविलास पासवान के पार्थिव शरीर पर पुष्प चक्र अर्पित कर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी।

पासवान का पार्थिव शरीर अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) से शुक्रवार की सुबह जनपथ स्थित उनके आधिकारिक आवास पर अंतिम दर्शन के लिए लाया गया। यहां राष्ट्रपति कोविंद ने दिवंगत नेता के पार्थिव शरीर पर पुष्प चक्र चढ़ाकर उन्हें श्रद्धांजलि दी। उन्होंने पासवान के परिजनों को दु:ख की इस घड़ी में ढांढस भी बंधाया।

वहीं, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मोदी ने दिवंगत नेता के आवास पर जाकर उनके पार्थिव शरीर पर पुष्प चक्र चढ़ाया और उन्हें अंतिम विदाई दी। मोदी ने पासवान के पुत्र व लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान, उनकी पत्नी रीना व पुत्री को भी ढांढस बंधाया। उन्होंने चिराग के कंधे पर हाथ रखकर उन्हें सांत्वना दी और दु:ख की इस घड़ी में परिवार, पार्टी की जिम्मेदारी संभालने का हौंसला दिया।

मोदी के अलावा केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद, गिरिराज सिंह, डॉ हर्षवर्धन समेत तमाम केंद्रीय मंत्रियों ने अपने दिवंगत साथी को पुष्पांजलि अर्पित कर भावभीनी श्रद्धांजलि दी। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष जेपी नड्डा, महासचिव (संगठन) बीएल सन्तोष समेत कई अन्य नेताओं ने भी पासवान को श्रद्धांजलि अर्पित की।
उल्लेखनीय है कि पासवान का 75 वर्ष की आयु में गुरुवार रात निधन हो गया था।

वह पिछले कुछ दिनों से यहां एक निजी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती थे, हाल ही में उनके दिल का ऑपरेशन हुआ था। पासवान केंद्र की मोदी सरकार में लोक वितरण, खाद्य एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री थे। पांच जुलाई 1946 को बिहार के खगड़िया में उनका जन्म हुआ था। वह 8 आठ बार लोकसभा के सदस्य और केंद्र सरकार में विभिन्न मंत्रालयों के मंत्री रहे। मौजूदा समय मे वह राज्यसभा के सदस्य और लोक वितरण, खाद्य एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री थे।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को सुबह स्वर्गीय रामविलास पासवान के अंतिम दर्शन कर उनके पार्थिव शरीर पर पुष्पांजलि अर्पित की​​। साथ ही उनके पुत्र चिराग़ पासवान एवं अन्य परिवारजनों से भेंट कर अपनी शोक संवेदना साझा की। उन्होंने कहा कि ईश्वर उनके शोकाकुल परिवार को यह दुख सहन करने की शक्ति प्रदान करें।

बिहार के कद्दावर नेता और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का लंबी बीमारी के बाद बीती शाम निधन हो गया। 74 साल के रामविलास पासवान कई दिनों से अस्पताल में भर्ती थे लेकिन गुरुवार की शाम को उनके बेटे और लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान ने निधन की जानकारी दी।पासवान का पार्थिव शरीर अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) से शुक्रवार की सुबह जनपथ स्थित उनके सरकारी आवास पर अंतिम दर्शन के लिए लाया गया। आज ही रामविलास पासवान के पार्थिव शरीर को पटना ले जाया जाएगा। राम विलास पासवान के पार्थिव शरीर के साथ वायुसेना विशेष विमान से उनके परिवार के सदस्यों के साथ रविशंकर प्रसाद भी दोपहर 2 बजे पटना जाएंगे जहां कल सुबह 10 गंगा किनारे उनका अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ किया जायेगा। पटना में होने वाले अंतिम संस्कार में केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद पूरी कैबिनेट की तरफ से मौजूद रहेंगे।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आज सुबह अंतिम दर्शन के लिए पासवान के सरकारी आवास पर पहुंचे और पुष्पांजलि अर्पित की। साथ ही उनके पुत्र चिराग़ पासवान एवं अन्य परिवारजनों से भेंट कर अपनी शोक संवेदना साझा की। उन्होंने कहा कि केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का निधन मेरे लिए अत्यंत पीड़ादायक है। अपने लम्बे राजनीतिक जीवन में उन्होंने हमेशा ग़रीबों, दलितों एवं वंचितों के कल्याण के लिए काम किया। उनकी गिनती बिहार की मिट्टी से जुड़े क़द्दावर नेताओं में थी और उनके सभी दलों के साथ अच्छे सम्बंध थे। उनके निधन से बिहार राज्य और राष्ट्रीय राजनीति में भी बड़ी रिक्तता पैदा हो गयी है। उनके साथ मेरी बहुत लम्बी और अच्छी मित्रता थी। उनका निधन मेरे लिए व्यक्तिगत क्षति है। इस दुःख की घड़ी में ईश्वर उनके परिवार एवं समर्थकों को संबल प्रदान करें। ॐ शान्ति!

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *