Ranchi Crime Update : पारसनाथ बेदिया हत्याकांड का मास्टरमाइंड कृष्णा यादव गिरफ्तार

Insight Online News

रांची, 07 मई : पिठौरिया थाना पुलिस ने सरस्वती पूजा के मूर्ति विसर्जन के दौरान हुई पारसनाथ बेदिया हत्याकांड मामले में फरार मास्टरमाइंड कृष्णा यादव को गिरफ्तार किया है। पुलिस उससे पूछताछ कर रही है। बताया जाता है कि कृष्णा यादव प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन पीएलएफआई से जुड़ा हुआ है।

ग्रामीण एसपी नौशाद आलम ने शुक्रवार को बताया कि कृष्णा यादव को पिठौरिया से गिरफ्तार किया गया है। उससे पूछताछ की जा रही है। उल्लेखनीय है कि बीते 19 फरवरी को मामले में पुलिस ने हत्या का खुलासा करते हुए आरोपित मिथुन नायक को गिरफ्तार किया था। पारसनाथ बेदिया की हत्या के लिए सरस्वती पूजा के विसर्जन के दिन को चुना गया था, ताकि ऐसा लगे कि ये हत्या एक हादसा हो। हालांकि पुलिस को घटनास्थल से कुछ ऐसे सुराग मिले जिससे ये स्पष्ट हो गया कि ये हत्या हादसा नहीं, बल्कि एक सोची समझी साजिश के तहत की गई हत्या थी। रांची के पिठोरिया थानाक्षेत्र में सरस्वती पूजा के विसर्जन के दौरान गोलीबारी की घटना में पारसनाथ बेदिया नामक व्यक्ति की मौत हो गई थी।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में जो खुलासा हुआ उससे पुलिस के हाथ अहम सुराग हाथ लगे थे। पारसनाथ बेदिया के कान में गोली मारी गई थी। जो दूसरे कान से आर-पार हो गई थी। वहीं इसे हादसे का रंग देने के लिए पारसनाथ के सिर पर बट से हमला किया गया था। जिससे पुलिस ने अपनी जांच में पाया कि यह पूर्व नियोजित हत्या थी। गिरफ्तार आरोपित मिथुन नायक को गिरफ्तार करने के बाद पूछताछ में पुलिस को मालूम चला था कि मृतक और कृष्णा नायक का जमीन को लेकर विवाद था। कृष्णा नायक मृतक से जबरदस्ती जमीन लिखवाना चाहता था।

लेकिन मृतक ने नहीं लिखा तब कृष्णा नायक ने अपने ड्राइवर मिथुन के सहारे उसकी हत्या करवा दी थी। कृष्णा नायक ने खुद अपनी पिस्टल अपने ड्राइवर मिथुन को दी और विसर्जन के दौरान उसे खत्म करने का आदेश दिया था। ताकि लगे कि यह एक दुर्घटना है। लेकिन पुलिस ने जमीनी स्तर से जांच कर हत्या का मुख्य सूत्रधार का पता लगा लिया था। गोली चलाने वाले शख्स मिथुन को गिरफ्तार कर लिया गया था। मामले में घटना के मास्टरमाइंड कृष्णा नायक की तलाश पुलिस कर रही थी। इसी दौरान वह पिठौरिया थाना क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया गया ।

हिन्दुस्थान समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *