Ranchi mayor Asha Lakra : रेमडेसिविर और ऑक्सीजन सिलेंडर रहते हुए दम तोड़ रहे हैं मरीज

Insight Online News

रांची, 23 अप्रैल : रांची नगर निगम की मेयर आशा लकड़ा ने कहा कि यह कैसी व्यवस्था है, जहां ऑक्सीजन सिलेंडर पर्याप्त मात्र में हैं। जीवनरक्षक दवा रेमडेसिविर की कोई कमी नहीं है, फिर भी कोरोना से संक्रमित मरीज तड़प-तड़प कर दम तोड़ रहे हैं। आशा लकड़ा ने शुक्रवार को कहा कि स्थानीय समाचार पत्र में प्रकाशित किया गया है कि सदर अस्पताल के एक कमरे में लगभग 500 ऑक्सीजन सिलेंडर भरे पड़े हैं। फिर भी गुरुवार को कोरोना संक्रमित मरीजों के परिजन पांच घंटे तक ऑक्सीजन का इंतज़ार करते रहे।

राज्य के ड्रग्स निदेशक के अनुसार, जीवनरक्षक दवा रेमडेसिवीर दवा की कोई कमी नहीं है। प्रतिदिन रिम्स व सदर अस्पताल के कोविड वार्ड में भर्ती गंभीर मरीजों की संख्या के अनुसार प्रतिदिन इस जीवनरक्षक दवा की आपूर्ति की जा रही है। फिर भी गंभीर मरीजो को जीवन रक्षक दवा नहीं दी जा रही है। ऑक्सीजन और जीवनरक्षक दवा समय पर नहीं दिए जाने के कारण प्रतिदिन अनगिनत मरीजों की मौत हो रही है। फिर भी राज्य सरकार आंशिक लॉक डाउन कर निश्चिंत हो चुकी है।

मेयर ने कहा कि राज्य के विकास आयुक्त सह स्वास्थ्य विभाग के सचिव ने गुरुवार को स्वयं सदर अस्पताल का निरीक्षण किया। फिर भी उन्हें सदर अस्पताल के कमरे में ऑक्सीजन के 500 सिलेंडर छिपाकर रखे जाने की भनक तक नहीं लगी। अब सवाल यह है कि स्वास्थ्य विभाग के वरीय अधिकारी निरीक्षण के नाम पर इस प्रकार की खानापूर्ति क्यों कर रहे हैं। क्या राज्य सरकार व विभाग के उच्च अधिकारियों के लिए कोरोना से संक्रमित मरीजों के जीवन का कोई मोल नहीं है।
स्वास्थ्य मंत्री मीडिया के समक्ष बयान देते हैं कि मरीज के परिजन सदर व रिम्स की लापरवाही से संबंधित शिकायत लिखित रूप में करेंगे तो संबंधित मामले की जांच कराई जाएगी। क्या स्वास्थ्य मंत्री ऐसे मामलों में स्वतः संज्ञान नहीं ले सकते।

उन्होंने कहा कि इस राज्य की अंधी, गूंगी व बहरी सरकार को न तो अव्यवस्था दिखाई दे रही है और न ही गंभीर मरीजों की चीख-पुकार सुनाई दे रही है। यदि इस हालात के लिए आम जनता स्वास्थ्य मंत्री को सरेआम खरी-खोटी सुनाती है, तो इससे यह स्पष्ट है कि वर्तमान हालात राज्य सरकार के नियंत्रण से बाहर है।
मेयर ने मुख्यमंत्री व विभागीय मंत्री से अपील करते हुए कहा कि हालात बेकाबू हो रहे हैं। राज्य की जनता प्रतिदिन मौत का तांडव देख रही है। कहीं ऐसा न हो कि अधिकारी आपको गुमराह करते रहें और राज्य की जनता वर्तमान हालात को देखकर उग्र हो जाए। लिहाजा आम लोगों की तड़प को महसूस कीजिए। राज्य का मुखिया होने के नाते आमलोगों के बहुमूल्य जीवन की रक्षा कीजिए।

हिन्दुस्थान समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *