Republic Day Parade : राजपथ पर भीष्म, ब्रह्मोस, पिनाका ने दिखाई ताकत, आसमान में गरजा राफेल

नई दिल्ली। भारत आज अपना 72वां गणतंत्र दिवस मना रहा है। राजपथ पर परेड शुरू हो गई है। परेड के दौरान देश राजपथ पर पहली बार राफेल लड़ाकू विमानों की उड़ान के साथ टी-90 टैंकों, समविजय इलेक्ट्रॉनिक युद्धक प्रणाली, सुखोई-30 एमके आई लड़ाकू विमानों समेत अपनी सैन्य शक्ति का प्रदर्शन करेगा। गणतंत्र दिवस परेड में राजपथ पर 17 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों की झांकियों, रक्षा मंत्रालय की छह झांकियों अन्य केंद्रीय मंत्रालयों और अर्द्धसैनिक बलों की नौ झांकियों समेत 32 झांकियों में देश की समृद्ध सांस्कृतिक धरोहर, आर्थिक उन्नति और सैन्य ताकत की आन बान शान नजर आएगी। कोविड-19 प्रोटोकॉल के मद्देनजर इस बार परेड और उसका रूट छोटा किया गया है। वहीं दर्शकों की संख्या में भी कटौती की गई है। 55 साल बाद पहली बार इस साल गणतंत्र दिवस पर कोई विशिष्ट अतिथि नहीं आए हैं।

परेड के दौरान थल सेना अपने मुख्य जंगी टैंक टी-90 भीष्म, इनफैन्ट्री कॉम्बैट वाहन बीएमपी-दो सरथ, ब्रह्मोस मिसाइल की मोबाइल प्रक्षेपण प्रणाली, रॉकेट सिस्टम पिनाका, इलेक्ट्रॉनिक युद्धक प्रणाली समविजय समेत अन्य का दमखम प्रदर्शित किया। गणतंत्र दिवस परेड पर इस साल नौसेना अपने पोत आईएनएस विक्रांत और 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध के दौरान नौसैन्य अभियान की झांकी पेश की। भारतीय वायु सेना हल्के लड़ाकू विमान तेजस और देश में विकसित टैंक रोधी निर्देश मिसाइल ध्रुवास्त्र पर प्रस्तुति पेश की गई।

राजपथ पर त्रिनेत्र फॉर्मेशन ने फ्लाईपास्ट किया। इसमें तीन सुखोई विमान ने आकाश में त्रिशूल बनाया। इस फॉर्मेशन का नेतृत्व ग्रुप कैप्टन एके मिश्रा ने किया। उनका साथ दिया 15 स्क्वाड्रन के कमांडिंग ऑफिसर स्कवाड्रन लीडर आरसी कुलकर्णी ने। भारत के आसमान में गरजा राफेल लड़ाकू विमान। एक राफेल विमान के साथ 2 जगुआर और 2 मिग-29 विमान ने एकलव्य फॉर्मेशन में राजपथ पर फ्लाईपास्ट किया। विमानों ने 780 किमी/ घंटा की रफ्तार से 300 मीटर की ऊंचाई पर उड़ान भरी। 

-Agency

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *