बखमुट शहर पर कब्जा करने के लिए रूसी कमांडर ‘पागलपन’ पर उतरे: जेलेस्की

कीव 27 अक्टूबर। यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर जेलेंस्की ने कहा कि पूर्वी शहर बखमुट पर कब्जा करने के लिए रूसी कमांडरों ‘पागलपन’ वाली रणनीति अपना रहे है।

बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार डोनेट्स्क क्षेत्र में स्थित बखमुट शहर युद्ध पूर्व आबादी 70 हजार थी। यह शहर महीनों से रूसी हमलों का सामना कर रहा है। इस शहर की मुख्य सड़क स्लोवियनस्क और क्रामाटोर्स्क शहरों से जुड़ी हुई है।

प्रमुख शहर खेरसॉन पर यूक्रेन की बढ़त के बावजूद श्री ज़ेलेंस्की ने कहा कि हमले लगातार जारी हैं। शहर पर कब्जा करना रूस के लिए प्रतीकात्मक जीत होगी।

विश्लेषकों के अनुसार, शहर की सैन्य क्षमता बहुत कम है, हालांकि अगर बखमुट का पतन होता तो अन्य शहर रूसी तोपखाने की जद मे फिर से आ जायेगे और युद्ध का माहौल बदलने में मददगार होगा।

श्री ज़ेलेंस्की ने राष्ट्रीय राजधानी में अपने रात के संबोधन में कहा कि रूसी कमांडर इस शहर पर कब्जा करने के लिए पागल है।

उन्होंने कहा कि वे तो अत्याधिक तोपखाने का उपयोग कर शहर में लोगों को मार रहे है।

श्री जेलेस्की के सलाहकार ओलेक्सी एरेस्टोविच ने कहा कि एक दिन में रूसी सेना ने बखमुट पर आठ हमले किए और हर बार उन्हें पीछे धकेल दिया गया।

उन्होंने कहा कि क्षेत्र में नियमित रूसी सैनिकों को वैगनर अर्धसैनिक भाड़े के सैनिकों का समर्थन है। कहा जाता है कि समूह के संस्थापक येवगेनी प्रिगोझिन शहर कब्जा करना चाहते हैं।

श्री ज़ेलेंस्की ने कहा कि यूक्रेनी सेना अपनी जमीन पर कब्जा कर रही थी और अपने सैनिकों को ‘हीरो’ तौर पर सम्मानित कर रही है।यूक्रेनी सेना भी दक्षिण में खेरसॉन की ओर बढ़ना जारी है। रूस ने इस शहर के नागरिकों को शहर खाली करने का आदेश दिया है।

वार्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *