Sachin Pilot : कांग्रेस ही तोड़ेगी राजस्थान में हर पांच साल बाद शासन बदलने की परिपाटी : पायलट

अजमेर, 3 नवंबर । पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा कि राजस्थान में पांच साल कांग्रेस तो पांच साल भाजपा की सरकार की परिपाटी रही है, अब इस परिपाटी को तोड़ना होगा। चुनाव में अब 24 महीने बचे हैं। ऐसे में पूरी कांग्रेस एकजुट है और आगामी चुनावों में कांग्रेस अपने वजूद से इस परिपाटी को तोड़ने की पूरी कोशिश करेगी।

अपने एक दिवसीय दौरे पर पाली व जोधपुर जाते समय पायलट ने अजमेर में पत्रकारों से बातचीत की। उन्होंने उम्मीद जताई कि उनकी ओर से उठाई गई मांगों पर कांग्रेस आलाकमान जल्द ही सकारात्मक फैसला करेगा। उन्होंने कहा कि समय रहते सभी काम होंगे। अभी उपचुनाव हुए हैं। जो अजय माकन ने कहा है वह सभी काम पूरे होंगे। सरकार और संगठन सभी मजबूत होंगे। अब चुनाव में मात्र 24 महीने रह गए हैं, जो पहले परिपाटी रही है कि 5 साल कांग्रेस की सरकार और 5 साल भाजपा की सरकार अब उस पर विराम लगाना होगा। हम लोग मजबूती से आगे बढ़ेंगे। उन्होंने कहा कि हम समझते हैं कि कांग्रेस पार्टी एक इकलौती पार्टी है जो राष्ट्रीय स्तर पर भाजपा को हरा सकती है। इसमें बाकी दल का सहयोग भी हम लेंगे।

उन्होंने कहा कि देशभर में जो उपचुनाव के परिणाम आए हैं उनसे स्पष्ट है कि देश भर में जो महंगाई की मार पड़ रही है, किसानों के खिलाफ जो तीन काले कानून बनाए हैं, पेट्रोल डीजल महंगे हो रहे हैं, खाद मिल नहीं रहा है इससे लोग नाराज है। व्यवस्था को चौपट करने का जो काम केंद्र सरकार ने किया है उसके विरोध में वोट पड़ा है। हिमाचल में बेहतरीन प्रदर्शन कांग्रेस पार्टी ने किया है। राजस्थान में दोनों उपचुनाव में कांग्रेस पार्टी जीती है।

महत्वपूर्ण बात यह है कि भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी तीसरे नंबर पर है, कहीं चौथे नंबर पर है। कहीं जमानत जप्त हो रही है। भारतीय जनता पार्टी जब शासन में थी तब शासन चलाने लायक पार्टी नहीं थी। दुर्भाग्य से आज भाजपा विपक्षी लायक पार्टी भी नहीं बची है। भाजपा को लोगों ने पूरी तरह से नकार दिया है। कांग्रेस पार्टी की शानदार जीत हुई है। चाहे कर्नाटक हो, चाहे हिमाचल हो, राजस्थान हो सब जगह कांग्रेस पार्टी का शानदार प्रदर्शन रहा है। जनता अब भाजपा से थक चुकी है और बदलाव चाहती है। भाजपा के शासन से जनता बहुत परेशान है यह बात साबित हो चुकी है।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *