Sant nirankari mission serving humanity Update: सत निरंकारी मिशन द्वारा काेविड-19 मरीजों के लिए दिल्ली सरकार को उपलब्ध कराया गया 1000 से अधिक बेड

Insight Online news

समर्पित सत्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज के आशीर्वाद से संत निरंकारी मिशन की ओर से बुराड़ी राेड, दिल्ली में स्थित ग्राउंड नं. 8 के विशाल सत्संग भवन में काेविड-19 महामारी से ग्रस्त मरीजाें के इलाज के लिए 1000 से भी अधिक बैड का ‘काेविड-19 ट्रीटमेंट सेंटर’ पूरे इन्फ्रास्ट्रक्चर के साथ दिल्ली सरकार काे उपलब्ध कराया जा रहा है। सरकार के सहयाेग से इस ट्रीटमेंट सेंटर में बैड इत्यदि व मरीजाें के खाने-पीने की व्यवस्था संत निरंकारी मिशन द्वारा उपलब्ध करायी जायेगी।इस सन्दर्भ में दिल्ली सरकार के माननीय स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन  ने स्वास्थ्य विभाग की टीम एवं संत निरंकारी मंडल के सैक्रेटरी जाेगिंदर सुखीजा जी के साथ इस स्थान का निरिक्षण किया आैर अपनी सन्तुष्टी प्रकट करते हुए इस स्थान पर संत निरंकारी मिशन की आेर से काेविड-19 ट्रीटमेंट सेंटर बनाने की अनुमति भी प्रदान की।

स्वास्थ्य मंत्री ने मिशन की आर से की गई इस पहल के लिए सत्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज का हृदय से धन्यवाद किया।इसके अलावा भारत के सभी सत्संग भवनाें काे काेविड वैक्सिनेशन सेंटर बनाने का प्रस्ताव भारत सरकार काे दिया गया था। जिसकी मंजूरी के उपरांत भारत के सैंकड़ों निरंकारी सत्संग भवन काेविड-19 के टीकाकरण सैंटर मे परिवर्तित हो चुके हैं। कई निरंकारी भवनाे ं को ‘काेविड-19 ट्रीटमेट सेंटर’ में परिवर्तित किया जा रहा है, जैसे- उधमपुर, मुबई इत्यादि। साथ ही साथ संत निरंकारी मिशन के कई सत्संग भवन काफ़ी समय से क्वारंटाईन सेंटर के रुप में, सम्बन्धित प्रशासनाें काे उपलब्ध कराये गए हैं। उल्लेखनीय है कि भारत में काेविड-19 के आरंभ से ही संत निरकारी मिशन की आेर से राशन-लंगर बाँटने से लेकर आर्थिक रूप में केन्द्र तथा कई राज्य सरकाराें के आपातकालीन निधी काेषाें में धनराशि जमा की गई तथा पीपीई किट्स, मास्क इत्यादि साधन उपलब्ध कराये गए आैर देशभर में लगातार रक्तदान शिविराें का आयोजन किया जा रहा है मिशन की इन सभी गतिविधियाें में संत निरकारी मिशन की मानवता काे समर्पित विचारधारा की झलक प्रतिबिंबित हाेती है आैर इस कार्य की हर स्तर पर सराहना भी हाे रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *