Shankaracharya Swami Nischalananda’s warning : शंकराचार्य की चेतावनी, योगी और मोदी सावधान, नहीं तो बन जाएंगे तीन पाकिस्तान

मुरादाबाद। गोवर्धनमठ पुरी के पीठाधीश्वर जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद सरस्वती महाराज ने अयोध्या में मस्जिद के लिए जमीन दिए जाने पर असंतुष्टि जाहिर की है। सरकार को आगाह करने जैसी शैली में उन्होंने कहा कि मोदी, योगी सावधान, नहीं तो बन जाएंगे तीन पाकिस्तान।

जगदगुरु शंकराचार्य बुधवार को रेलवे स्टेडियम में आयोजित विराट धर्म सभा में बोल रहे थे। मंच से सीधे संबोधन के स्थान पर कार्यक्रम स्थल पर मौजूद लोगों के सवालों के जवाब देकर उन्होंने अपनी बात रखी। 

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण से जुड़े एक सवाल पर उन्होंने कहा कि योगी और मोदी से पूछिए कि रामलला का मंदिर बन रहा है, इसमें उनकी क्या भूमिका रही है। पूर्व प्रधानमंत्री नरसिम्हाराव के शासनकाल में रामालय ट्रस्ट बना था। यदि पुरी के शंकराचार्य के रूप में मैंने रामालय ट्रस्ट के कागजों पर हस्ताक्षर कर दिए होते तो राम मंदिर उसी समय बन गया होता और उसके अगल-बगल या आमने-सामने मस्जिद भी बन गई होती। हस्ताक्षर न करने की वजह से आज अयोध्या में केवल रामजी का मंदिर बन रहा है। मोदी-योगी को श्रेय लेना है, मुझे श्रेय नहीं चाहिए।

उन्होंने मस्जिद को जमीन दिए जाने पर असंतुष्टि जाहिर की। कहा कि मस्जिद के लिए 25 किलोमीटर दूर उपहार स्वरूप पांच एकड़ जमीन दी गई है। यह योजना इस समय लोगों को अच्छी लग रही है, क्योंकि राम जी का मंदिर बन रहा है। इसी निर्णय को यदि मथुरा और काशी में भी क्रियान्वित किया तो उत्तर प्रदेश में तीन नए पाकिस्तान बनने का मार्ग प्रशस्त हो जाएगा। योगी जी, मोदी जी सावधान आप तीन नए पाकिस्तान दे रहे हैं।

हिंदू राष्ट्र से जुड़े सवाल पर उन्होंने कहा कि हम सबके पूर्वज सनातनी वैदिक आर्य हिंदू हैं। विश्व में मुस्लिम और मसीही राष्ट्र हैं लेकिन कोई हिंदू राष्ट्र नहीं हैं। भारत को हिंदू राष्ट्र बनना चाहिए। यदि मुस्लिम रहीम-रसखान बन कर देश में रहते हैं तो हमें कोई आपत्ति नहीं है।  

गोरक्षा के लिए कानून पर उन्होंने कहा कि इस समय भारत में ऐसा कोई भी राजनीतिक दल नहीं है, जो हृदय से समग्र गोवंश की रक्षा का समर्थन करे। हिंदुओं के धर्म स्थलों पर सरकार के नियंत्रण के सवाल पर उन्होंने कहा कि सनातन धर्म से सरकार सहयोग ले सकती है, लेकिन उस पर अधिकार नहीं जमाया जा सकता है।

जगदगुरु शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद सरस्वती महाराज का कहना है कि भगवान विष्णु का कल्कि अवतार उत्तर प्रदेश के संभल में ही होगा। स्कंद पुराण में इसका उल्लेख मिलता है। उसमें वर्णित लक्षण सब इसी (यूपी के) संभल के हैं। कल्कि अवतार को उड़ीसा के पुरी में यदि जगन्नाथ भगवान खींच ले जाएं तो मैं कुछ नहीं कह सकता। राम, कृष्ण का जन्म भी उत्तर प्रदेश में हुआ है। मेरी गुरु परंपरा उत्तर प्रदेश की रही है, लिहाजा मेरा स्वयं का लगाव उत्तर प्रदेश से अधिक है।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *