Share Market : आर्थिक आँकड़ों और वैश्विक संकेतों से तय होगी बाजार की दिशा

मुंबई 13 सितंबर। सेंसेक्स और निफ्टी में बीते सप्ताह एक प्रतिशत से अधिक की तेजी के बाद आने वाले सप्ताह में घरेलू शेयर बाजार का रुख घरेलू स्तर पर जारी होने वाले वृहद आर्थिक आँकड़ों के साथ वैश्विक हलचलों पर भी निर्भर करेगा।

रिलायंस इंडस्ट्रीज के साथ ही आईटी और टेक क्षेत्र की दिग्गज कंपिनयों में हुई लिवाली से गत सप्ताह सेंसेक्स और निफ्टी तो बढ़त में बंद होने में कामयाब रहे, लेकिन मझौली और छोटी कंपनियों के सूचकांक मिडकैप और स्मॉलकैप में साप्ताहिक गिरावट देखी गई।

आने वाले सप्ताह में घरेलू स्तर पर थोक और खुदरा महँगाई के साथ ही आयात-निर्यात के आँकड़े भी जारी होने हैं। वहीं, वैश्विक स्तर पर शेयर बाजारों में रही हलचल का असर घरेलू बाजारों पर भी दिखेगा। अमेरिकी फेडरल रिजर्व की मौद्रिक नीति समिति की दो दिवसीय बैठक मंगलवार को शुरू हो रही है। अर्थव्यवस्था को लेकर समिति के आकलन का असर पूरी दुनिया के शेयर बाजारों पर होगा।

समीक्षाधीन सप्ताह में बीएसई का सेंसेक्स 497.37 अंक यानी 1.30 प्रतिशत चढ़कर सप्ताहांत पर 38,854.55 अंक पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 130.80 अंक यानी 1.15 प्रतिशत मजबूत होकर 11,464.45 अंक पर पहुँच गया। रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों में 11.62 प्रतिशत की साप्ताहिक बढ़त का इसमें काफी योगदान रहा। दोनों प्रमुख सूचकांकों में मंगलवार और बुधवार को गिरावट रही जबकि शेष तीन कारोबारी दिवसों पर इनमें तेजी देखी गई।

मझौली और छोटी कंपनियों के सूचकांकों में पहले तीन दिन गिरावट और अंतिम दो दिन बढ़त दर्ज की गई। बीएसई का मिडकैप सप्ताह के दौरान 157.44 अंक यानी 1.06 प्रतिशत लुढ़ककर शुक्रवार को 14,659 अंक पर और स्मॉलकैप 44.70 अंक यानी 0.31 प्रतिशत की गिरावट के साथ 14,558.27 अंक पर बंद हुआ।

वार्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *