27 नवंबर से गूँजेगी शहनाई, 15 दिनों में विवाह के 8 शुभ मुहुर्त

ग्वालियर, 05 अक्टूबर । कोरोना संक्रमण के कारण पिछले सीजन में जिन लोगों का विवाह नहीं हुआ हैस उनके लिए खुशखबरी यह है कि नवंबर माह से सहालगी सीजन शुरू होने जा रहा है। नवंबर के अंतिम सप्ताह से शुरू हो रहे बैंड बाजा और बारात को लेकर बाजार में काफी उत्साह है।  मई-जून के वैवाहिक लग्न में जिनकी शादियां नहीं हुई है वह नवंबर और दिसंबर के लग्न में शादी कर सकते हैं। अतिथियों की संख्या अभी 50 से बढ़कर 100 कर दी गई है जिसमें और बढ़ोत्तरी की संभावना है। इससे विवाह कारोबार को गति मिलेगी। दीपावली और सहालगी सीजन को देखते हुए कारोबारियों की गति तेज हो गई है। वहीं होटलों, धर्मशाला और गार्डनों की बुकिंग हो रही है।

ज्योतिषाचार्य के अनुसार चतुर्मास के कारण बंद पड़े मांगलिक कार्य नवंबर माह से शुरू हो जाएंगे। कार्तिक शुक्ल एकादशी 26 नवंबर को भगवान विष्णु के चिर निद्रा से जागते ही मांगलिक कार्यों पर लगा प्रतिबंध हट जाएगा और शहनाई की गूंज सुनाई देने लगेगी। वर्ष 2020 में जहां विवाह का पहला शुभ मुहूर्त 18 जनवरी 2020 को था तो वहीं आखरी शुभ मुहूर्त 11 दिसंबर 2020 को है। नवंबर और दिसंबर को मिलाकर विवाह के शुभ मुहूर्त 8 ही हैं। 27 नवंबर से विवाह के मांगलिक कार्य प्रारंभ हो सकेंगे। 

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *