Sisodia : रोजगार बाजार बेरोजगारों के लिए बना लाइफलाइन

Insight Online News

नयी दिल्ली, 01 जुलाई : दिल्ली के उप मुख्यमंत्री एवं रोजगार मंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि केजरीवाल सरकार की बेरोजगार युवाओं को रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए रोजगार बाजार शुरू किया था जो लाइफ़लाइन साबित हो रहा है।

श्री सिसोदिया ने गुरुवार को कहा कि केजरीवाल सरकार कोरोना महामारी के आर्थिक प्रभाव को लेकर सबसे ज्यादा चिंतित है। इसलिए पिछले साल बेरोजगार युवाओं को रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए रोजगार बाजार पोर्टल लॉन्च किया था। पिछले साल लाखों युवाओं ने पंजीकरण कराया और नौकरी प्राप्त की थी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल में लोगों का यह भरोसा है कि अब भी हजारों नौकरी तलाशने वाले और रोज़गार देने वाले, रोजगार बाजार में पंजीकरण कर रहे हैं। इस संकट के समय में युवाओं को नौकरी दिलाने में मदद करने के लिए हर संभव प्रयास करेंगे।

उन्होंने कहा कि पिछले साल दिल्ली सरकार की ओर से रोजगार बाजार पोर्टल शुरू किया गया था। राजधानी दिल्ली में महामारी कोविड लहर के बाद अनलॉक प्रक्रिया के दौरान रोजगार बाजार दिल्ली के बेरोजगारों के लिए लाइफलाइन बना हुआ है। रोज़गार बाजार में जून में रोज़ाना लगभग एक हजार नए नौकरी खोजने वालों को पंजीकृत किया गया और 300 नई नौकरियां पोस्ट की गईं। दिल्ली में कुल 34,212 नौकरी खोजने वालों को पंजीकृत किया गया। इसके अलावा एक से 30 जून 2021 के बीच 9,522 नई भर्तियां पोस्ट की गईं। इसके अलावा नौकरी चाहने वालों और रोजगार देने वालों के बीच में हर दिन 2500 बार व्हाट्सएप, फोन कॉल और सीधे आवेदन के माध्यम से संपर्क हुआ है। जून में नौकरी चाहने वालों और नियोक्ताओं के बीच कुल मिलाकर 75,000 बार संपर्क हुआ है। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने पिछले साल कोरोना महामारी से प्रभावित नौकरी खोजने वालों और नियोक्ताओं को जोड़ने के लिए रोजगार बाजार जॉबडॉटदिल्लीडॉटजीओवीडॉटइन लॉन्च किया था।

इसके अलावा लॉकडाउन के दौरान रोजगार बाजार पोर्टल ने व्यवसायों को डिलीवरी और उपभोक्ता सहायता के लिए कर्मचारी रखने में मदद की। जबकि अनलॉकिंग प्रक्रिया के दौरान नौकरियों में फिर से बढ़ोतरी आयी है। रोज़गार बाज़ार सभी वर्गों के लिए वन-स्टॉप पोर्टल साबित हुआ है। सूक्ष्म व्यवसाय से लेकर, रसोइया, दर्जी, टेक्नीशियन, एमएसएमई लेखाकार, वेब डिज़ाइनर, सेल्स और मार्केटिंग पर्सन से लेकर अस्पतालों तक में कर्मचारियों को नौकरी देने के लिए दिल्ली सरकार के रोजगार बाजार पर भरोसा जताया है।

वर्तमान में सबसे अधिक नौकरियां ग्राहक सहायता, डिलीवरी एक्जीक्यूटिव और सेल्स में हैं। रोजगार बाजार पर फुल टाइम जॉब के साथ-साथ पार्ट टाइम और वर्क फ्रॉम होम नौकरी के विकल्प भी उपलब्ध हैं। फ्रेशर्स के लिए लगभग 45 फीसदी पोस्ट उपलब्ध हैं। वहीं पुरूष-महिला के हिसाब से देखें तो कुल 41 फीसदी नौकरी उपलब्ध हैं। जिसमें से पुरुषों के लिए 36 फीसदी और महिलाओं के लिए 23 फीसदी नौकरी उपलब्ध हैं।

आजाद, उप्रेती, वार्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *