Stock market : बीते हफ्ते सेंसेक्स 702 अंक और निफ्टी 168 अंक ऊपर हुआ बंद

मुम्बई 24 अक्टूबर। बीते हफ्ते बॉम्बे स्टाक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 702.52 अंक या 1.75 फीसदी बढ़कर 40685.50 के स्तर पर बंद हुआ, जबकि निफ्टी 50 167.95 अंक या 1.42 फीसदी बढ़कर 11930.4 के स्तर पर बंद हुआ।

बीएसई का स्मॉल-कैप इंडेक्स बीते हफ्ते 2.3 फीसदी बढ़ा। वहीं, दीवान हाउसिंग फाइनेंस कॉरपोरेशन, सागर सीमेंट्स, मैग्मा फिनकॉर्प, पीसी ज्वैलर, चेन्नई पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन 25 फीसदी से अधिक चढ़े, जबकि लॉस में रामको सिस्टम, पटेल इंजीनियरिंग कंपनी, पर्सिस्टेंट सिस्टम्स और एमईपी इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलपर्स शामिल थे।

इसके साथ ही बीते हफ्ते बीएसई मिडकैप इंडेक्स में ओबेरॉय रियल्टी, गोदरेज प्रॉपर्टीज, आदित्य बिड़ला फैशन, वोडाफोन आइडिया और आदित्य बिड़ला कैपिटल के समर्थन की बदौलत 2.4 फीसदी की छलांग लगाई।

वहीं, बीते हफ्ते बीएसई का लार्ज-कैप इंडेक्स हिंदुस्तान जिंक, वेदांता, एक्सिस बैंक, भारती इंफ्राटेल, डीएलएफ और भारती एयरटेल के नेतृत्व में 1.4 फीसदी ऊपर बंद हुआ, जबकि हीरो मोटोकॉर्प, ब्रिटानिया इंडस्ट्रीज, आयशर मोटर्स, ल्यूपिन और डिविस लेबोरेटरीज गिरावट के साथ बंद हुए।

इसके अलावा बीएसई में सूचिबद्ध शीर्ष 10 कंपनियों में से एचडीएफसी बैंक के बाजार मूल्यांकन में सबसे ज्यादा बढ़ोतरी दर्ज की गई। इसके बाद क्रमश: भारती एयरटेल, एचडीएफसी और आईसीआईसीआई बैंक रहे।

आरआईएल और टीसीएस के एमकैप में बीते हफ्ते रही गिरावट
विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) ने बीते सप्ताह 7,375.72 करोड़ रुपये की इक्विटी खरीदी, जबकि घरेलू संस्थागत निवेशकों (डीआईआई) ने 7,800.22 करोड़ रुपये के इक्विटी बेची। हालांकि, अब तक अक्टूबर के महीने में एफआईआई ने 13,564.74 करोड़ रुपये के इक्विटी खरीदे और डीआईआई ने 7,800.22 करोड़ रुपये के इक्विटी बेची है।

सेक्टोरल मोर्चे पर, बीएसई रियल्टी इंडेक्स मैं भी 2 हफ्ते सबसे ज्यादा 9 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई। इसके बाद बीएसई मेटल 5.3, बीएसई पावर 4.3 फीसदी रही। बीएसई एनर्जी इंडेक्स 1.6 फीसदी रहा। साप्ताहिक आधार पर, भारतीय रुपया अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 24 पैसे फिसल गया। यह 23 अक्टूबर को 73.60 प्रति डॉलर पर बंद हुआ, जबकि 16 अक्टूबर को 73.34 प्रति डॉलर पर बंद हुआ।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *