Stock Market : मुनाफावसूली और प्रतिकूल वैश्विक संकेतों से गिरा शेयर बाजार

नई दिल्ली, 24 जुलाई । शुक्रवार को खत्म हुए कारोबारी सप्ताह के दौरान भारतीय शेयर बाजार में ओवरऑल कमजोरी के हालात बने रहे। सप्ताह के शुरुआती 2 दिन वैश्विक संकेतों के कारण शेयर बाजार पर काफी दबाव रहा। इसके साथ ही इन दो दिनों के दौरान भारतीय शेयर बाजार में जमकर मुनाफावसूली भी हुई, जिसके कारण भी सेंसेक्स और निफ्टी में जोरदार गिरावट दर्ज की गई। हालांकि सप्ताह के आखिरी 2 दिन के दौरान कंपनियों के अच्छे नतीजे और अंतरराष्ट्रीय बाजार से मिले पॉजिटिव सेंटीमेंट्स के कारण शेयर बाजार में तेजी का रुख भी बना। इसकी वजह से निवेशकों के नुकसान की काफी हद तक भरपाई भी हो गई।

इस कारोबारी सप्ताह के दौरान शुरुआती दो दिनों (सोमवार और मंगलवार) के दौरान सेंसेक्स कुल 941.55 अंक लुढ़क गया। सप्ताह का तीसरा दिन बकरीद होने की वजह से छुट्टी का दिन था, जबकि चौथे और पांचवें दिन (गुरुवार और शुक्रवार) शेयर बाजार में तेजी का माहौल बना। जिसकी वजह से सेंसेक्स कुल 777.29 अंक ऊपर चढ़कर बंद हुआ। इस तरह से इस कारोबारी सप्ताह के दौरान सेंसेक्स में कुल 164.26 अंक की गिरावट आई और ये सूचकांक पिछले कारोबारी सप्ताह की तुलना में 0.30 फीसदी गिरकर बंद हुआ। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी पहले 2 दिनों के दौरान कुल 291.30 अंक गिरकर 15,632.10 अंक के स्तर तक पहुंच गया। वहीं बकरीदी की छुट्टी के बाद सप्ताह के चौथे और पांचवें दिन निफ्टी में कुल 223.95 अंक की तेजी आई। जिसकी वजह से निफ्टी पिछले कारोबारी सप्ताह की तुलना में 0.42 फीसदी कमजोर होकर 67.35 अंक की गिरावट के साथ 15,856.05 अंक के स्तर पर बंद हुआ।

साप्ताहिक आधार पर कारोबार को देखा जाए तो बीएसई लार्ज कैप इंडेक्स में 0.4 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई। इस सेगमेंट में हैवेल्स इंडिया, बजाज फिनसर्व, हिंदुस्तान पेट्रोलियम कारपोरेशन (एचपीसीएल), अंबुजा सीमेंट और विप्रो सबसे अधिक फायदे में रहे। जबकि एचडीएफसी ऐसेट मैनेजमेंट कंपनी, जनरल इंश्योरेंस कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया, इंडस टॉवर्स और टाटा मोटर्स- डीवीआर में सबसे अधिक गिरावट का रुख बना रहा। इन कंपनियों के शेयर में साप्ताहिक आधार पर 6 से 8 फीसदी तक की गिरावट दर्ज की गई।

इसी तरह बीएसई का मिडकैप इंडेक्स 0.47 फीसदी तक लुढ़क गया। इस गिरावट में जूबिलेंट फूड वर्क्स, ग्लैक्सो स्मिथ क्लाइन फार्मास्यूटिकल्स, जेएसडब्ल्यू एनर्जी, एससीसी और क्रिसिल टॉप 5 गेनर बने। वहीं अगर लूजर्स की बात करें, तो वोडाफोन आइडिया, जीएमआर इंफ्रास्ट्रक्चर, एलएंडटी फाइनेंस होल्डिंग्स और मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज को सबसे ज्यादा झटका लगा।

बीएसई स्मॉलकैप इंडेक्स इस कारोबारी सप्ताह के दौरान ओवरऑल तो सपाट स्थिति में बंद हुआ लेकिन इस सेगमेंट में कुछ कंपनियों में साप्ताहिक आधार पर 20 फीसदी से अधिक की बढ़ोतरी भी दर्ज की गई, तो कुछ कंपनियों में साप्ताहिक आधार पर 10 फीसदी से ज्यादा की गिरावट भी दर्ज की गई। जिंदल स्टेनलेस, स्कैफ्लर इंडिया, उषा मार्टिन इंडस्ट्रीज, रैमको इंडस्ट्रीज और ब्राइट कॉम ग्रुप के शेयर में साप्ताहिक आधार पर 20 फीसदी से अधिक की उछाल दर्ज की गई। दूसरी ओर कैमलिन फाइन सर्विसेज, रिलायंस कम्युनिकेशंस, न्यूजेन सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी, महिंद्रा ईपीसी इरिगेशन, एसआरईआई इंफ्रास्ट्रक्चर फाइनेंस और शक्ति पंप्स के शेयर में 10 फीसदी से भी अधिक की साप्ताहिक आधार पर गिरावट दर्ज की गई।

अगर मार्केट वैल्यू की बात की जाए, तो शुक्रवार को खत्म हुए कारोबारी सप्ताह के दौरान एचडीएफसी बैंक की मार्केट वैल्यू को सबसे अधिक नुकसान हुआ। वहीं हिंदुस्तान युनिलीवर, कोटक महिंद्रा बैंक और एचडीएफसी के मार्केट वैल्यू पर भी प्रतिकूल असर हुआ। दूसरी ओर इस कारोबारी सप्ताह के दौरान आईसीआईसीआई बैंक, इंफोसिस और एशियन पेंट्स की मार्केट वैल्यू में सबसे ज्यादा बढ़ोतरी दर्ज की गई।

सेक्टोरल इंडेक्स की बात करें तो मीडिया इंडेक्स 2.6 फीसदी गिरकर बंद हुआ। इसी तरह ऑटो और बैंक इंडेक्स में भी दो-दो फीसदी की कमजोरी बनी रही। वहीं आईटी और रियल्टी इंडेक्स में तेजी का रुख बना रहा।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *