फरीदाबाद में चमकाए जा रहे हैं श्रीराम मंदिर के पत्थर

फरीदाबाद, 13 सितम्बर । यह औद्योगिक नगर राम लला मंदिर में कार सेवा के साथ ईंट दान में भी आगे रहा है। अब इस शहर का नाम प्रभु श्री राम लला के अयोध्या स्थित मंदिर के निर्माण से सीधे जुड़ गया है। यहां की एक कंपनी राम लाल मंदिर के पुराने और पीले-काले पड़ गए पत्थरों को आधुनिक तकनीक से चमकाने का प्रयास कर रही है, ताकि राम लला के भव्य मंदिर का निर्माण हो सके। 
सेक्टर-19 निवासी रामभक्त संदीप गर्ग के नेतृत्व में उनकी कंपनी केएलए कंस्ट्रक्शन अयोध्या में राम लला के पत्थरों को चमकाने का काम कर रही है। श्री राम जन्मभूमि न्यास के महासचिव ने संदीप गर्ग की इस कंपनी की विशेषज्ञता को देखते हुए इस कार्य के लिए अनुबंधित किया है। मंदिर की कार्यशाला में राम मंदिर की एक मंजिल के लिए करीब सवा लाख घन फुट पत्थर तराशकर रखे गए हैं। लगभग 28 वर्षों से खुले आसमान में होने के कारण इन पत्थरों ने धूप, बरसात, गर्मी-सर्दी, सब कुछ सहन किया है। इसलिए इन पत्थरों पर काई जम गई है और इनका रंग-रूप बिगड़ गया है। यह नक्काशीदार स्टोन कॉलम बता रहा है कि केएलए कंस्ट्रक्शन द्वारा सफाई के पश्चात कैसा दिख रहा है और उससे पहले कैसा था। पत्थरों को चमकाने लिए जर्मन कंपनी एकेमी सहित कई देसी-विदेशी कंपनियों ट्रायल दिया था। इसमें फरीदाबाद की केएलए कंपनी का चयन किया गया। 
ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि हम स्वदेशी के पोशक हैं। इसीलिए स्वदेशी कंपनी का चयन किया गया है। श्री राम जन्मभूमि न्यास के ट्रस्टियों के साथ केएलए कंस्ट्रक्शन के सीईओ संदीप गर्ग कार्यशाला का निरीक्षण करते हुए उन्होंने कहा कि अन्य कंपनियों की तुलना में केएलए कंपनी का काम अच्छा है। उनके द्वारा दिए गए ट्रायल के बाद कुछ पत्थर ऐसे चमक गए हैं कि जैसे उन्हें अभी तराश गया हो। केएलए कंस्ट्रक्शन की क्लीन एंड क्योर शाखा के सीईओ संदीप गर्ग ने बताया कि ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय और ट्रस्टी डॉ. अनिल मिश्र उनके कार्य से खुश है। गर्ग बताते हैं कि लगभग सवा लाखा घन फुट तराशा हुआ पत्थर है। इसलिए इनकी साफ-सफाई में करीब तीन माह लग जाएंगे।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *