टेस्ट क्रिकेट खेल का सर्वश्रेष्ठ रूप : वीरेंद्र सहवाग

मुंबई, 27 मई । एक दशक से अधिक समय तक टेस्ट क्रिकेट पर हावी रहने के बाद, भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने कहा कि सबसे लंबा प्रारूप खेल का सर्वश्रेष्ठ रूप है।

अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में, सहवाग ने टेस्ट में 82.23 के आश्चर्यजनक स्ट्राइक रेट से 49.34 के औसत से 8586 रन बनाए। वहीं, एकदिनी मैचों में उन्होंने 104.33 की स्ट्राइक रेट और 35.05 की औसत से 8273 रन बनाए हैं।

स्पोर्ट्स18 पर होम ऑफ हीरोज के एक एपिसोड में सहवाग ने कहा, “मेरी विनम्र राय में, टेस्ट क्रिकेट सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट है।”

भारत के पूर्व बल्लेबाज ने कहा कि अगर ऋषभ पंत केवल सफेद गेंद वाला क्रिकेट खेलते हैं, तो कोई भी उन्हें ज्यादा याद नहीं करेगा।

सहवाग ने कहा, “अगर वह 100 से अधिक टेस्ट खेलता है, तो उसका नाम हमेशा के लिए इतिहास की किताबों में दर्ज हो जाएगा। केवल 11 भारतीय क्रिकेटरों ने यह उपलब्धि हासिल की है, और हर कोई उन 11 नामों को याद कर सकता है।”

क्रिकेट का छोटा प्रारूप आकर्षक रहा है और तत्काल संतुष्टि प्रदान करता है, सहवाग को लगता है कि आईपीएल में 99 प्रतिशत खिलाड़ी टेस्ट क्रिकेट खेलना चाहेंगे।

सहवाग ने कहा, “विराट कोहली टेस्ट खेलने पर इतना जोर क्यों देते हैं? वह जानते हैं कि अगर वह 100-150 या 200 टेस्ट भी खेलते हैं, तो वह रिकॉर्ड बुक में अमर हो जाएंगे।”

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published.