रांची काथलिक आर्च डायसिस द्वारा सरना/आदिवासी कोड लागू करवाने की अपील मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, झारखंड सरकार से करता है

Insightonlinenews Team

रांची काथलिक आर्च डायसिस के आर्च बिशप ये.स. फेलिक्स टोप्पो एवं सहायक बिशप मसकारेन्हस एफ.एस.एक्स सहित झारखंड अंडमानस् के कथलिक विशपगणों ने एक संयुक्त ज्ञापन द्वारा झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से आदिवासियों के हित में सरना कोड/आदिवासी कोड झारखंड में लागू करवाने की दिशा में कदम उठाने की पहल करने का अनुरोध किया है।

काथलिक विशपगणों ने अपने ज्ञापन में भारतीय संविधान का उल्लेख करते हुए कहा है कि आदिवासियों को अनुसूचित जनजातियों की सूची में रखा गया है और उनकी पहचान, सुरक्षा एवं अधिकारों की गारंटी का उल्लेख संविधान में मौलिक अधिकारों की धाराओं 25, 29 एवं 332 में दर्ज है। इन धाराओं में जिन मौलिक अधिकारों का उल्लेख है उस आधार पर सरना कोड/आदिवासी कोड झारखंड राज्य में विभिन्न आदिवासी समुदाय के अस्तित्व को बल देने के लिए आवश्यक है।

अपने ज्ञापन में उन्होंने एनआरसी नहीं लागू करने का भी अनुरोध किया है जब तक झारखंड अथवा अन्य आदिवासी बहुल राज्यों में सरना/आदिवासी कोड की सारी प्रक्रिया पूरी करते हुए केंद्र द्वारा लागू नहीं हो जाता। ज्ञातव्य हो कि झारखंड के विविध आदिवासी संगठन सरना कोड की मांग पिछले कई वर्षों से लगातार करते आ रहे हैं और धीरे-धीरे यह एक जनआंदोलन बनकर उभर रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *