आजादी का अमृत काल नई कार्ययोजना के साथ आगे बढ़ने का अवसर है- योगी

Insight Online News

लखनऊ, 15 अगस्त : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को 76वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर कहा कि आजादी का यह ‘अमृत कालखंड’ नई कार्ययोजना के साथ आगे बढ़ने का अवसर प्रदान कर रहा है।

योगी ने यहां विधान भवन के सामने आयोजित स्वतंत्रता दिवस समारोह में ध्वजारोहण करने के बाद जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा कि आज देश आजादी के 75 वर्षों का साक्षी बन रहा है। इस पवित्र कालखंड को आजादी के अमृत काल के रूप में मनाया जा रहा है। इन 75 वर्षों में देश ने लंबी यात्रा तय की है।

इस अवसर पर उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और बृजेश पाठक के अलावा राज्य के मुख्य सचिव दुर्गाशंकर मिश्र और सरकार के अनेक मंत्री एवं आला अधिकारी उपस्थित थे। योगी ने देश की इस विकास यात्रा काे तय करने का अवसर मुहैया कराने के लिये राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को शत शत नमन करते हुए कहा कि देश को आजादी दिलाने के लिये अपने प्राण न्योछावर करने वाले वीर सपूतों को भी वह नमन करते हैं। इस अवसर पर उन्होंने अपना बलिदान देकर भारत को सुरक्षा की गारंटी देने वाले सेनानियों, सैनिकों को भी विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की।

योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आजादी के अमृत महोत्सव से आमजन को जोड़कर इसे राष्ट्रीय उत्सव बनाया है। इससे पहले 14 अगस्त को पूरे देश मे मौन मार्च के जरिए विभाजन की त्रासदी को भी याद किया गया। योगी ने कहा, “यह सभी कार्यक्रम हमें अतीत की विरासत के साथ जोड़ते हैं।”

अपनी सरकार की उपलब्धियों का जिक्र करते हुए योगी ने कहा कि पिछले दो सालों में देश और दुनिया ने सदी की सबसे बड़ी महामारी कारोना का सामना किया। विपदा के इस कालखंड में उत्तर प्रदेश की जनता ने आत्म अनुशासन का परिचय दिया। टीम भाव से किये गये कामों का परिणाम आज सबके सामने है जिसके फलस्वरूप उत्तर प्रदेश कोरोना के सर्वाधिक टेस्ट, सबसे ज्यादा टीकाकरण और सर्वाधिक खाद्यान्न उपलब्ध कराने वाला राज्य बना।

उन्होंने कहा कि टीम भावना से किये गये ऐसे अनेक कार्यों ने जनता के मन में विश्वास जगाया और 37 वर्षो बाद प्रदेश में किसी सरकार को दोबारा जनता ने सेवा करने का अवसर दिया। योगी ने कहा कि कोई मुख्यमंत्री लगातार 5 वर्ष काम करके फिर आज सेवा के लिए खड़ा है, यह भी उत्तर प्रदेश में पहली बार हुआ।

योगी ने कहा, “सेवा, सुरक्षा और सुशासन ही हमारी प्राथमिकता है। पांच वर्षो में 2.61 करोड़ शौचालय, 43 लाख आवास और घरों तक बिजली पहुचाई गई, 15 करोड़ परिवारों को निशुल्क खाद्यान्न उपलब्ध कराया गया, 1.70 करोड़ परिवारों को निशुल्क गैस कनेक्शन वितरित किए गये। परिणामस्वरूप आज उत्तर प्रदेश निवेश के ‘ड्रीम डेस्टिनेशन’ के रूप में उभरा है और प्रदेश की जीडीपी को दोगुना करने में सफलता मिली है।”

निर्मल, जारी वार्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published.