दुनिया सबसे खतरनाक दशक से गुजर रही है: पुतिन

Insight Online News

मास्को 28 अक्टूबर : रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने कहा है कि दुनिया दूसरे विश्वयुद्ध के बाद अब तक के सबसे खतरनाक दशक से गुजर रही है।

बीबीसी की एक रिपोर्ट के अनुसार रूसी राष्ट्रपति ने गुरुवार को दिये एक व्यापक भाषण में यूक्रेन पर रूसी हमले को न्यायसंगत ठहराने का प्रयास करते हुए कहा कि इस कारण उनका देश अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अलग थलग पड़ गया । उन्होंने पश्चिमी देशों पर रूस के खिलाफ परमाणु हमले की धमकी देते हुए अन्य देशों को उसके खिलाफ एकजुट करने का आरोप लगाया।

यूक्रेन में हाल ही में मिल रही नाकामयाबियों और युद्ध में लगभग तीन लाख रूसियों को भेजे जाने के फैसले के खिलाफ घर में ही लोगों के बढ़ते गुस्से की घटनाओं के बीच राष्ट्रपति से नजदीकी रूप से जुड़े प्रबुद्ध वर्ग के लोगों के फोरम वालदेई की वार्षिक बैठक में श्री पुतिन ने कहा “ हमने पहले अपनी ओर से रूस के परमाणु हथियार इस्तेमाल करने को लेकर कोई बयान नहीं दिया। हमने जो कुछ भी कहा वह पश्चिमी देशों के बयानों की प्रतिक्रिया में कहा।”

रूसी राष्ट्रपति ने ब्रिटेन की तत्कालीन प्रधानमंत्री लिज ट्रस के अगस्त में आये उस बयान की ओर भी इशारा किया जिसमें उन्होंने साफ-साफ शब्दों में कहा था कि अगर परिस्थितियां ऐसी बनती हैं कि जरूरी हो तो वह परमाणु हथियारों के इस्तेमाल के बटन को दबाने को भी तैयार रहेंगी।

श्री पुतिन ने कहा,“ ब्रिटेन की पूर्व प्रधानमंत्री के ऐसे बयान के बावजूद ब्रिटेन के किसी भी सहयोगी देश ने इस बयान पर आपत्ति नहीं जतायी। ऐसे में आप हमसे क्या उम्मीद करते हैं कि हम खामोश रहें और ऐसे नाटक करें कि जैसे हमने कुछ सुना ही नहीं?”

रूसी राष्ट्रपति ने हालांकि खुद यह बयान दिया था कि रूस अपने हितों की रक्षा के लिए सभी जरूरी उपाय करेगा। उनके ऐसे बयानों को स्पष्ट रूप से परमाणु हथियारों के इस्तेमाल की धमकी के रूप में देखा गया।

इस बीच श्री पुतिन भी पश्चिमी देशों पर लगातार हमलावर रहे और पश्चिमी देशों के रवैये को बेहद गंदा और खतनाक खेल बताते हुए कहा कि यह देश अन्य देशों की संप्रभुता और विशिष्टता को स्वीकार ही नहीं करते हैं। दुनिया भर के मामलों में पश्चिमी देशों का यह प्रभुत्व अब खत्म होने की कगार पर है।

उन्होंने कहा “ भविष्य की दुनिया हमारी आंखों के सामने साकार रूप ले रही है ।” उन्होंने पश्चिमी देशों पर रूस को बरबाद करने की कोशिश करने का आरोप लगाया।

सोनिया,आशा, वार्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *