मोमेंटम झारखंड की जांच के लिए सीआइडी की तीन सदस्यीय टीम गठित

रांची, 25 अगस्त । झारखंड मोमेंटम घोटाले की जांच के लिए सीआईडी की तीन सदस्यीय टीम की गठित की गई है। इस टीम में एक डीएसपी, एक इंस्पेक्टर और एक सब इंस्पेक्टर को शामिल किया गया है। इस टीम को सीआईडी के आईजी लीड कर रहे हैं। झारखंड मोमेंटम घोटाले मामले में सीआईडी की टीम जल्द ही इस मामले से जुड़े कई लोगों से पूछताछ शुरू कर सकती है। माना जा रहा है कि इस मामले में झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास की मुश्किलें बढ़ सकती है।

  • वर्ष 2017 में हुआ था मोमेंटम झारखंड

मोमेंटम झारखंड का आयोजन वर्ष 2017 में हुआ था। आरोप है कि इसमें जिन 11 कंपनियों के साथ करार हुआ था, उसका गठन आयोजन से कुछ माह पहले हुआ। यह स्पष्ट करता है कि सिर्फ मोमेंटम झारखंड का लाभ लेने के उद्देश्य से ही इन कंपनियों को बनाया गया। मोमेंटम झारखंड में कुल 238 एमओयू हुए थे, इनमें से 13 एमओयू विदेशी कंपनियों, 74 एमओयू झारखंड की कंपनियों और शेष एमओयू अन्य राज्यों की कंपनियों से हुए। केवल 25 एमओयू में 22 कंपनियों को 350 एकड़ जमीन आवंटित की गई।

  • पहले एसीबी में हुई थी शिकायत, 100 करोड़ के घोटाले का आरोप

झारखंड मोमेंटम घोटाले की शिकायत एसीबी में जनवरी 2020 में शिकायत की गई थी। शिकायत में बताया गया था कि पूर्व की रघुवर सरकार में मोमेंटम झारखंड की शुरुआती बजट को बढ़ाया गया था। शुरुआत में इसका बजट केवल 8.5 करोड़ रुपये था, जिसे बढ़ाकर 100 करोड़ रुपये किया गया था। निवेशकों को बुलाने के नाम पर लंदन, जर्मनी, कनाडा और अमेरिका सहित कई शहरों में रोड शो आयोजित किया गया था। इसके नाम पर तत्कालीन मुख्यमंत्री रघुवर दास के बेटे सहित अन्य लोगों ने सैर-सपाटे भी किए थे।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *