UP News : मुख्यमंत्री योगी बोले, काकोरी कांड के शहीदों की ‘राष्ट्र साधना’ युगों-युगों तक करती रहेगी प्रेरित

  • मुख्यमंत्री सहित अन्य नेताओं ने काकोरी कांड के शहीदों को बलिदान दिवस पर किया नमन

लखनऊ, 19 दिसम्बर । मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहित अन्य नेताओं ने काकोरी कांड के शहीदों पं. राम प्रसाद बिस्मिल, अशफाक उल्ला खां व ठाकुर रोशन सिंह को उनके बलिदान दिवस पर याद करते हुए अपने श्रद्धांजलि दी है।

मुख्यमंत्री ने शनिवार को कहा कि मां भारती की स्वाधीनता के लिए अपना सर्वस्व अर्पित करने वाले अमर शहीद पं. राम प्रसाद बिस्मिल, अशफाक उल्ला खां व ठाकुर रोशन सिंह के बलिदान दिवस पर उन्हें कोटिशः नमन। उन्होंने कहा कि कृतज्ञ राष्ट्र इनको सदैव श्रद्धापूर्वक स्मरण करेगा। इनकी ‘राष्ट्र साधना’ युगों-युगों तक हमें प्रेरित करती रहेगी।

उत्तर प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने कहा कि स्वतंत्रता संग्राम में अपने प्राणों की आहुति देने वाले मां भारती के अमर सपूत रामप्रसाद बिस्मिल, अशफाक उल्ला खां और ठाकुर रोशन सिंह के बलिदान दिवस पर कोटि-कोटि नमन।

उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि देश की स्वतंत्रता के लिए अपने प्राणों की आहुति देकर क्रान्ति की अलख जगाने वाले महान क्रान्तिकारी राम प्रसाद बिस्मिल जी, अशफाक उल्ला खान जी और ठाकुर रोशन सिंह के बलिदान दिवस पर उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि।

उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा कि देश की आजादी के लिए सर्वस्व न्योछावर करने वाले महान क्रांतिकारी पं. रामप्रसाद बिस्मिल, अशफाक उल्ला खां, और रोशन सिंह की पुण्यतिथि पर मेरी विनम्र श्रद्धांजलि। स्वतंत्रता के लिए किया गया उनका सर्वोच्च बलिदान हमें सदैव देश के लिये समर्पित रहने की प्रेरणा देता रहेगा।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने ट्वीट किया कि काकोरी कांड के अमर बलिदानियों को शत-शत नमन। आप सभी का त्याग और बलिदान सदैव हमारे लिए प्रेरणा बनता रहेगा।

समाजवादी पार्टी ने ट्वीट किया कि देश की आजादी के लिए अपने प्राण न्योछावर करने वाले महान क्रांतिकारी अमर शहीद राम प्रसाद बिस्मिल, अशफाक उल्ला खां और ठाकुर रोशन सिंह को उनके बलिदान दिवस पर शत शत नमन एवं विनम्र श्रद्धांजलि!

उत्तर प्रदेश कांग्रेस ने ट्वीट किया कि ब्रिटिश हुकूमत के खिलाफ देश की आवाज बुलंद करने वाले, भारत की आजादी के नायक अमर शहीद राम प्रसाद बिस्मिल, अशफाक उल्ला खां और ठाकुर रोशन के शहादत दिवस पर विनम्र श्रद्धांजलि।

देश के महान स्वतंत्रता सेनानी राम प्रसाद बिस्मिल, अशफाक उल्ला खां और ठाकुर रोशन सिंह को आज ही के दिन 19 दिसम्बर 1927 को फांसी दी गई थी। आज के दिन को बलिदान दिवस के रूप में मनाया जाता है। देश को आजादी दिलाने के लिए इन तीनों ने अपना सबकुछ न्यौछावर कर दिया था। इन तीनों को काकोरी कांड को अंजाम देने के लिए सजा के तौर पर फांसी के फंदे पर चढ़ाया गया था।

09 अगस्त 1925 की रात चंद्रशेखर आजाद, राम प्रसाद बिस्मिल, अशफाक उल्ला खां, राजेंद्र लाहिड़ी और ठाकुर रोशन सिंह समेत क्रांतिकारियों ने लखनऊ से कुछ दूरी पर काकोरी और आलमनगर के बीच ट्रेनों में लाए जा रहे सरकारी माल को लूटा था। चंद्रशेखर आजाद किसी तरह से पुलिस की गिरफ्त से बच गए लेकिन, राम प्रसाद बिस्मिल, अशफाक उल्ला खां, राजेंद्र लोहिड़ी और ठाकुर रोशन सिंह को फांसी की सजा सुनाई गई। इनमें राजेंद्र लोहिड़ी 17 दिसम्बर 1927 को सबसे पहले गांडा जेल में राजेंद्रनाथ लाहिड़ी को फांसी दी गई, जबकि राम प्रसाद बिस्मिल, अशफाक उल्ला खां और ठाकुर रोशन सिंह को बाद में अलग-अलग जेलों में फांसी दी गई।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *