UP Update : गोरखपुर महोत्सव से जीवंत होगी भारतीय संस्कृति व लोक परम्पराएं : रवि किशन

  • बच्चों, बेटों और क्षेत्रीय कलाकारों को कम न आंके, भोजपुरी का केन्द्र होगा गोरखपुर: रवि किशन
  • गोरखपुर महोत्सव से भारतीय संस्कृति, परम्परा, लोकनृत्य व लोकगीत को जीवंतता मिलेगी: रवि किशन

गोरखपुर, 12 जनवरी। भोजपुरी अभिनेता व गोरखपुर के सांसद रवि किशन ने कहाकि अपने बच्चों, बेटों और क्षेत्रीय कलाकारों का कम न आंके। विश्व के हर कोने में भारत की प्रतिभाएं शीर्ष पर हैं।। गोरखपुर महोत्सव से भारतीय संस्कृति, परम्परा, लोकनृत्य व लोकगीत को जीवंतता मिलेगी। वे मंगलवार को गोरखपुर महोत्सव के उद्घाटन अवसर पर लोगों को सम्बोधित करते हुए कही। वे क्षेत्रीय कलाकारों को बढ़ावा देने पर विशेष बल दिए।

महोत्सव को सम्बोधित करते हुए सांसद रवि किशन ने कहा कि जहां गोरखपुर महोत्सव नहीं होने की उम्मीद थी, वहां मुख्यमंत्री ने लोगों के मन से कोरोना के भय को निकालने के लिए बहुत ही कम समय में इस कार्यक्रम को करने का निर्देश दिया। इतने कम समय में इतना शानदार कार्यक्रम सराहनीय है। कार्यक्रम की सबसे प्रमुख विशेषता यहां के क्षेत्रीय कलाकारों द्वारा भिन्न-भिन्न कार्यक्रमों की प्रस्तुति है। इस महोत्सव से विलुप्त हो रही भारतीय संस्कृति और परम्परा, लोक नृत्य, लोक गीत सब को जीवंत करने का सफल प्रयास किया गया है। क्षेत्रीय कलाकारों को अपनी कला, अपनी प्रतिभा दिखाने का एक स्वर्णिम अवसर मिला है।

मैं लोकल लड़का हूँ

सांसद रवि किशन ने कहा कि मैं लोकल लड़का हूँ। गांव से निकला एक क्षेत्रीय कलाकार हूँ। एक क्षेत्रीय कलाकार से स्टार बना और फिर सुपर स्टार। मैं ऐसा इसलिए कह रहा हूँ कोई भी अपने बच्चों, अपने बेटों और क्षेत्रीय कलाकारों को कम न आंके। हर बच्चा स्टार बनने की काबिलियत रखता है। यही हमारे क्षेत्रीय कलाकार एक दिन देश और विश्व स्तर पर अपनी पहचान बनायेंगे।

सांसद ने सभी से अपील की कि क्षेत्रीय कलाकारों द्वारा प्रस्तुत किये जाने वाले विदेशिया नाटक और फरवरी चार, 1922 का मंचन अवश्य देखें। अधिक से अधिक संख्या में मुक्ता काशी मंच पहुँचकर कलाकारों का हौसला बढ़ाये।

सांसद ने किया विज्ञान प्रदर्शनी का निरीक्षण

मंगलवार को सांसद रवि किशन ने गोरखपुर महोत्सव में छात्रों द्वारा लगाई विज्ञान प्रदर्शनी का निरीक्षण किया और उनके कार्यो की सराहना की। छात्रों द्वारा तैयार किए आधुनिक जूते जो भारतीय सीमा में किसी दुश्मन के घुसते ही बजने लगते हैं कि विशेष सराहना की। उन्होंने बच्चों द्वारा निर्मित् ड्रोन कैमरे की भी तारीफ की।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *