HindiNationalNewsPolitics

मोदी से प्रज्वल रेवन्ना को समर्थन न देने का आग्रह: कांग्रेस

नयी दिल्ली: कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कर्नाटक की हासन सीट से जनता दल (सेक्युलर) सांसद प्रज्वल रेवन्ना के मामले में चुप्पी तोड़ने तथा यह सुनिश्चित करने का आग्रह किया है कि वह गिरफ्तार सांसद को अब किसी भी तरह का समर्थन ना दें ताकि बेटियों को न्याय मिल सके।

महिला कांग्रेस की अध्यक्ष अलका लांबा ने यहां पार्टी मुख्यालय में संवाददाता सम्मेलन में शनिवार को कहा कि कई महिलाओं के साथ दुष्कर्म के मामले में मिली शिकायतों के बाद सांसद को गिरफ्तार गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने उम्मीद जताई कि इस गिरफ्तारी से सैकड़ो पीड़ित महिलाओं को न्याय मिलेगा।

उन्होंने कहा, “कर्नाटक के हासन से सांसद प्रज्वल रेवन्ना को कर्नाटक सरकार द्वारा गठित विशेष जांच दल (एसआईटी)ने गिरफ्तार कर लिया है। यह काम एसआईटी द्वारा गठित महिला पुलिस टीम ने किया है। इसके लिए हम कर्नाटक सरकार को बधाई देते हैं।’

कांग्रेस नेता ने इस मामले में प्रधानमंत्री से चुप्पी तोड़ने का आग्रह करते हुए कहा, “नरेंद्र मोदी ‘बेटी बचाओ का नारा’ देते रहे लेकिन प्रज्वल रेवन्ना पर अपनी चुप्पी नहीं तोड़ी।कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्दारमैया ने श्री मोदी को पत्र लिखकर कहा कि देश छोड़कर भाग चुके प्रज्वल रेवन्ना को वापस लाया जाए लेकिन प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्री के पत्र का कोई जवाब नहीं दिया। ये दिखाता है कि प्रज्वल रेवन्ना के मामले को लेकर श्री मोदी जी कितने गंभीर थे।”

उन्होंने कहा,”राहुल गांधी जी ने पीड़िताओं को न्याय का आश्वासन दिया था। उन्होंने श्री मोदी से सवाल भी पूछा था कि आप मास रेपिस्ट को क्यों बचा रहे हैं। प्रियंका गांधी जी ने भी प्रज्वल रेवन्ना के मामले में नरेंद्र मोदी की खामोशी पर सवाल उठाए थे लेकिन श्री मोदी ने इस मुद्दे पर आजतक चुप्पी नहीं तोड़ी।”

महिला कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा,“ यह आश्चर्य की बात है कि इस मामले में सैकड़ों लोगों ने आवाज उठाई है और श्री मोदी से कार्रवाई करने का आग्रह किया लेकिन उन्होंने इस मुद्दे पर आज तक चुप्पी नहीं तोड़ी। हक़ीक़त यह है कि प्रज्वल रेवन्ना के हजारों वीडियो के बारे में भाजपा के शीर्ष नेतृत्व को जानकारी दी थी इसके बावजूद नरेंद्र मोदी ने मंच पर खड़े होकर प्रज्वल रेवन्ना के लिए वोट मांगे।”

सुश्री लाम्बा ने कहा,”हम मांग करते हैं कि विशेष अदालत या त्वरित अदालत का गठन हो और तीन महीने के अंदर आरोपियों को सजा मिले। यह सारा अपराध पिता और बेटा दोनों कर रहे थे। उसके मोबाइल से कलेक्ट सारे वीडियो प्रधानमंत्री, गृहमंत्री तथा भाजपा अध्यक्ष तक पहुंचे थे इसके बावजूद प्रज्वल रेवन्ना को टिकट देने, उसका समर्थन कर उसके लिए प्रचार करने और वोट मांगने का फैसला लिया जाता है।”

उन्होंने मध्य प्रदेश में सागर में हुए सामूहिक दुष्कर्म का भी मुद्दा उठाया और कहा कि भाजपा सरकार के शासन में कल सागर में सामूहिक दुष्कर्म की पीड़िता की एंबुलेंस से गिरकर संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो जाती है। प्रधानमंत्री दुष्कर्म के मामलों में चुप्पी सधे हैं और उनके मौन से अपराधियों के हौसले बढ़ रहे हैं।

महिला कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि भले ही प्रज्वल रेवन्ना को गिरफ्तार कर लिया गया है लेकिन अब भी सबूतों से छेड़खानी किए जाने की आशंका है, इसलिए वह प्रधानमंत्री से आग्रह करती हैं कि इस मामले में वह चुप्पी थोड़े और सुनिश्चित करें कि किसी तरह का समर्थन अपराधियों का ना हो और उनका हौसला न बढ़े।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *