Vasundhara Raje : कदम मिलाकर चलेंगे तो न जीत होती और न हार होती है, देश-परिवार बना सकेंगे : वसुंधरा

जयपुर, 21 मार्च । पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने विश्व कविता दिवस के बहाने अपनी ही पार्टी में नेताओं की गुटबाजी पर निशाना साधा। राजे ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की कविता का जिक्र करते हुए राजस्थान भाजपा में खेमेबाजी काे इंगित किया।

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने विश्व कविता दिवस पर ट्वीट में लिखा कि सभी कविजनों तथा काव्य प्रेमियों को विश्व कविता दिवस की शुभकामनाएं। कवि अपनी रचनाओं से ना सिर्फ समाज में नवाचार व जागरुकता का प्रकाश फैलाते हैं, बल्कि अपने उत्कृष्ट सृजन से देश प्रेम व लोक कल्याण की भावना को प्रतिपादित करते हैं।

उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की कविता कदम मिलाकर चलो का पाठ किया। राजे ने अपने वीडियो ट्वीट में कविता का सार भी बताया। उन्होंने कहा कि जो भी क्षणिक समय वो बीत जाता है और हम लोग अगर एक साथ चलते हैं तो न जीत होती और न हार होती है, लेकिन हम अपने देश और परिवार को जैसा बनाना चाहते हैं वैसा बना सकते हैं।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published.