नई राजनीतिक व्यवस्था बनाना चाहते हैं लेकिन सही व्यक्ति मिलेगा तभी पार्टी बनाएंगे – प्रशांत

भितिहरवा । देश के लगभग सभी प्रमुख राजनीतिक दलों के लिए चुनावी रणनीति बनाने के बाद अब अपने लिए राजनीतिक जमीन तलाश रहे श्री प्रशांत किशोर ने ‘जन सुराज’ की संकल्पना के साथ बिहार के पश्चिम चंपारण जिले स्थित भितिहरवा गांधी आश्रम से करीब 3500 किलो मीटर की पदयात्रा की शुरुआत करते हुए कहा कि राज्य में वह एक नई राजनीतिक व्यवस्था बनाना चाहते हैं लेकिन जब इसके लिए सही व्यक्ति मिलेगा तभी वह पार्टी बनाएंगे ।श्री प्रशांत किशोर ने पदयात्रा की शुरुआत में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, “इस पदयात्रा का मुख्य उद्देश्य है समान विचार वाले सभी लोगों को एक साथ जोड़ना और सबके सामूहिक प्रयास से बिहार में व्यवस्था परिवर्तन करना और बिहार को देश के अग्रणी राज्यों की श्रेणी में शामिल करना।” उन्होंने कहा कि इस पदयात्रा के माध्यम से बिहार के विकास के लिए अगले 15 सालों का विजन डॉक्यूमेंट तैयार किया जाएगा। यह विजन डॉक्यूमेंट विकास के 10 बड़े मानकों जैसे की शिक्षा, स्वास्थ, बेरोजगारी, कृषि आदि मुद्दों पर तैयार होगा ।चुनावी रणनीतिकार ने कहा कि उन्होंने यह करने का फैसला सोच समझकर किया है । बिहार में 30 40 वर्षों में कुछ नहीं बदला है । वर्ष 1990 में भी बिहार राज्य गरीब था और आज भी गरीब है । वह बिहार में एक नई राजनीतिक व्यवस्था बनाना चाहते हैं । उन्होंने कहा कि वह किसी के लिए वोट मांगने नहीं आए हैं । वह आम लोगों के बीच से ही किसी को जिता कर जनप्रतिनिधि बनाना चाहते हैं ताकि वह लोगों की चिंता करे । बिहार की स्थिति तभी बदलेगी जब जनता की समस्या को लोग समझेंगे । वार्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *