West Bengal News : बंगाल विधानसभा के उपाध्यक्ष सुकुमार हांसदा की कोरोना से मौत, सीएम ने जताया दुख

कोलकाता, 29 अक्टूबर । पश्चिम बंगाल विधानसभा के उपाध्यक्ष और राज्य के पूर्व मंत्री सुकुमार हांसदा का निधन गुरुवार को हो गया है। 66 वर्षीय नेता कैंसर से पीड़ित थे और लंबे समय से चिकित्साधिन थे। इलाज के दौरान वह कोरोना पॉजिटिव भी हुए थे। उन्होंने सुबह कोलकाता के एक निजी अस्पताल में अंतिम सांस ली है। सुकुमार हंसदार के पिता सुबल हांसदा कांग्रेस के शासनकाल में केंद्रीय कोयला मंत्री थे। शुरुआत में सुकुमार हांसदा ने रोगियों की सेवा करने पर ध्यान केंद्रित किया था। वह झाड़ग्राम अस्पताल में डॉक्टर थे। फिर तृणमूल के दौर में उन्होंने राजनीति के क्षेत्र में प्रवेश किया।

वह पश्चिमांचल के विकास मंत्री थे। बाद में वह पश्चिमांचल विकास बोर्ड के अध्यक्ष बने। झाड़ग्राम केंद्र से दो बार जीतने वाले विधायक वर्तमान में विधानसभा के उपाध्यक्ष थे। कुछ दिन पहले उन्हें एसएसकेएम अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बाद में उन्हें कोलकाता के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। उपचार के दौरान कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। उनकी मौत के मद्देनजर गुरुवार को राज्य के सभी सरकारी कार्यालयों में झंडे को आधे झुकाकर रखने का निर्णय लिया गया है। उनके निधन पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शोक व्यक्त किया है।

ट्वीटर पर मुख्यमंत्री ने लिखा है कि मैं पश्चिम बंगाल विधानसभा के उपाध्यक्ष डॉ. सुकुमार हासदा के निधन से बहुत दुखी हूं। उन्होंने कलकत्ता में आज अंतिम सांस ली। वह 66 साल के थे। डॉ. हासदा ने अपना पूरा जीवन आदिवासियों के विकास के लिए समर्पित कर दिया। आदिवासी आंदोलन और आदिवासी लोगों के कल्याण में उनकी भूमिका और योगदान अपार था। आदिवासी समाज के बीच उन्होंने अपना जीवन उनके विकास में बिताया। वह दो बार झाड़ग्राम केंद्र से विधायक चुने गए। उन्होंने पश्चिमांचल विकास मंत्री के रूप में भी कार्य किया है। मैं सुकुमार हांसदा के परिवार और प्रशंसकों के प्रति अपनी हार्दिक संवेदना व्यक्त करती हूं। नेता प्रतिपक्ष अब्दुल मन्नान और माकपा विधायक दल के नेता सुजन चक्रवर्ती ने भी उनकी मृत्यु पर शोक व्यक्त किया।

(हि. स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *