WHO Update : बच्चों को कोरोना से बचाने में ‘गेम चेंजर’ बनेगी भारत में बनी नेज़ल वैक्सीन : सौम्या स्वामीनाथन

नई दिल्ली: विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की प्रमुख वैज्ञानिक डॉक्टर सौम्या स्वामीनाथन के अनुसार भारत में तैयार की जा रही नाक से दी जाने वाली कोरोना वैक्सीन बच्चों के लिए गेमचेंजर साबित हो सकती हैं। इस तरह की वैक्सीन नाक के ज़रिए दी जाती है। कहा जाता है कि ये इंजेक्शन वाली वैक्सीन के मुकाबले ज्यादा असरदार है। साथ ही इसे लेना भी आसान है।
हालांकि ये इस साल तक शायद ना उपलब्ध हो लेकिन स्वामीनाथन का मानना है कि भारत में तीसरी लहर की संभावना और बच्चों पर उसके असर को देखते हुए ये वैक्सीन आने वाले समय में बेहद कारगर साबित हो सकती है।

पेशे से बच्चों की डॉक्टर स्वामीनाथन के अनुसार, भारत में जिन नाक से दी जाने वाली वैक्सीन पर काम हो रहा है वो बच्चों के कोरोना से बचाव के लिए गेम चेंजर साबित हो सकती है। इसको आसानी से लगाया जा सकेगा और साथ ही ये उनके फेफड़ों को भी बेहतर इम्यूनिटी प्रदान करेगी। उन्होंने कहा, मुझे उम्मीद है कि जल्द ही हमारे पास बच्चों के लिए भी वैक्सीन होगी। हालांकि इस साल इसकी संभावना नहीं है।

साथ ही सौम्या स्वामीनाथन का मानना है कि जब तक ये वैक्सीन उपलब्ध नहीं हो जाती तब तक हमें ज्यादा से ज्यादा वयस्कों खासकर की शिक्षकों को वैक्सीनेट करने के प्रयास करने चाहिए। जिस से कि जब स्कूल खोले जाए उस समय सामुदायिक संक्रमण की संभावना बेहद कम हो। उन्होंने कहा, “हमें स्कूल खोलने से पहले सामुदायिक संक्रमण की संभावना को पूरी तरह से खत्म करना होगा। अन्य देशों ने भी अन्य बचाव उपायों के साथ साथ ये सुनिश्चित करने के बाद ही ये किया है। यदि हम देश के सभी शिक्षकों को वैक्सीन की डोज दे देते हैं तो ये इस दिशा में बहुत बड़ा कदम होगा।

बता दें, शनिवार को केंद्र सरकार ने कहा कि बच्चे संक्रमण से सुरक्षित नहीं हैं, लेकिन फिलहाल वायरस का असर बच्चों पर कम हो रहा है। दुनिया और देश के आंकड़ों पर नजर डालें तो सिर्फ 3-4 % बच्चों को अस्पताल में भर्ती कराने की नौबत आती है। नीति आयोग (स्वास्थ्य) के सदस्य वीके पॉल ने कहा, ‘अगर बच्चे कोविड से प्रभावित होते हैं, तो या तो कोई लक्षण नहीं होंगे या कम से कम लक्षण होंगे। उन्हें आम तौर पर अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत नहीं होती है. लेकिन हमें 10-12 साल के बच्चों पर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है’।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES