दूध पर टैक्स लगाने वाली भाजपा धर्म का करती है इस्तेमाल : अखिलेश यादव

  • यदि मैं चाचा का सम्मान नहीं कर पा रहा तो उन्हें स्वतंत्र किया
  • सपा अध्यक्ष का पार्टी कार्यकर्ताओं ने बाबतपुर एयरपोर्ट पर किया गर्मजोशी सेे स्वागत

वाराणसी, 28 जुलाई। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव गुरूवार अपरान्ह में बाबतपुर स्थित लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर पहुंचे। यहां कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों ने अपने अध्यक्ष का गर्मजोशी से स्वागत किया।

कार्यकर्ताओं से मुलाकात के बाद जौनपुर में आयोजित कार्यक्रम में भाग लेने जाने से पूर्व मीडिया से भी यादव रूबरू हुए। पत्नी डिम्पल यादव के साथ रूद्राभिषेक की तस्वीर से जुड़े सवाल पर पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि मुझे भाजपा से धर्म सीखने की जरूरत नहीं है। बाबा विश्वनाथ को चढ़ाने वाले दूध पर टैक्स लगाने वाली भाजपा धर्म का इस्तेमाल करती है। दूध, दही पर लगे जीएसटी पर तंज कसते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि सावन में जो कोई भी भोले बाबा पर दूध चढाने जाएगा। उसे भी अब टैक्स देना होगा। रक्षाबंधन आ रहा है, मिठाइयां बनेगी अब इस पर टैक्स देना होगा।

ईडी से जुड़े सवाल पर अखिलेश यादव ने कहा कि समय समय पर केंद्र सरकार राजनीतिक लोगों को परेशान करने के लिए ईडी का इस्तेमाल करती है। ये कोई नयी बात नहीं है। शिवपाल यादव से जुड़े सवाल पर उन्होंने कहा कि यदि मैं चाचा का सम्मान नहीं कर पा रहा हूं तो उन्हें स्वतंत्र कर दिया। वो चाचा हैं और हमेशा चाचा ही रहेंगे। मेरे लिए खुशी की बात होगी कि चाचा अपना दल दोबारा खड़ा करें। सुभासपा अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर से गठबंधन के सवाल पर अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी और उसके गठबंधन पर कभी भी आरोप नहीं लगा कि पैसे लेकर टिकट दिया जाता है। ओमप्रकाश राजभर से गठबंधन के बाद आरोप लगा कि पैसे लिए गए।

अखिलेश यादव ने कहा कि उन्हें अगर भाजपा के साथ जाना है और उनसे तालमेल है तो जा सकते हैं। भाजपा विपक्ष का गठबंधन तोड़ने के लिए दबाव बना रही है। ओमप्रकाश राजभर को भाजपा से डर है। उन्होंने कहा कि जब कांग्रेस की सबसे बड़ी नेता को ईडी ने बुला लिया तो प्रदेश के नेताओं का क्या हो सकता है। शायद इसीलिए गठबंधन तोड़ा गया हो।

ओम प्रकाश राजभर के एसी कमरों से बाहर निकलने वाले बयान पर अखिलेश यादव ने कहा कि मुझे 22 साल हो गए सक्रिय राजनीति में आये। समझना चाहिए कि राजभर किसके इशारे पर आरोप लगा रहे हैं। उनके अंदर किसी और की आत्मा प्रवेश कर चुकी है। गांव, देहात में झाड़-फूंक होती है न उन्हें झड़वाना-फुकवाना होगा, तभी ठीक होंगे।

बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे में हुए गड्ढे पर अखिलेश यादव ने कहा, मानक का ख्याल नहीं रखा गया। इसकी जांच होनी चाहिए।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published.