महाराष्ट्र : मुख्यमंत्री सत्कार स्वीकारने में मस्त, महाराष्ट्र में बाढ़ प्रभावित त्रस्त: अजीत पवार

मुंबई, 2 अगस्त । महाराष्ट्र विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजीत पवार ने कहा कि राज्य में मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे पिछले एक महीने से सिर्फ सत्कार स्वीकार करने में मस्त हैं लेकिन महाराष्ट्र में बाढ़ प्रभावित त्रस्त हैं। बाढ़ प्रभावितों की हालत बद से बदतर होती जा रही है। मुख्यमंत्री की प्राथमिकता बाढ़ प्रभावितों को मदद करने की होनी चाहिए, जबकि उन्होंने अपनी प्रथम प्राथमिकता सत्कार स्वीकारने की रखी है।

अजीत पवार यहां मंगलवार को पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिंदे और उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को अपने पद की शपथ लिए एक महीना बीत गया, लेकिन अभी तक मंत्री समूह का विस्तार नहीं किया गया है। यहां तक कि देवेंद्र फडणवीस को भी अभी तक कोई विभाग नहीं दिया गया है। पालक मंत्री तक नहीं नियुक्त किए गए हैं। सभी विभाग मुख्यमंत्री के पास हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री कार्यालय में फाइलों का अंबार लगा है, जबकि मुख्यमंत्री दौरा कर अपना सत्कार करवा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि भारी बारिश से बाढ़ प्रभावित जिलों में 10 हजार हेक्टर से अधिक खेती की जमीन ,फसल बर्बाद हो गई है। बाढ़ प्रभावित इलाकों में लोगों की हालत बदतर हो गई है। इस समय किसानों, मजदूरों, बागवानी करने वाले किसानों को तत्काल मदद की जरुरत है। सरकार को तत्काल इस वर्ग को आर्थिक मदद करना जरुरी है, जबकि मुख्यमंत्री तथा उपमुख्यमंत्री अनर्गल बयानबाजी कर रहे हैं। पवार ने कहा कि सरकार को तत्काल किसानों को 75 हजार रुपये तथा बागवानी करने वाले किसानों को तीन लाख रुपये की आर्थिक मदद की घोषणा करनी चाहिए। पवार ने कहा कि सरकार विकास काम करने की बजाय पहले से चल रहे विकास कामों को भी रोक दिया है। उन्होंने राज्य सरकार से सभी रोके गए विकास कामों को फिर से शुरू करने की मांग की है।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published.