गडकरी के सर्मथन में आए शान्ता कुमार, कहा राजनीति न छोडें, माेदी का करें सहयोग

पालमपुर, 27 जुलाई। हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शान्ता कुमार ने केन्द्रीय सड़क एवं परिवहन व राष्ट्रीय राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी को पत्र लिख कर कहा है कि उन्होंने सत्ता की राजनीति के सम्बन्ध में जो कहा है वह पार्टी की पहली पीढ़ी के मेरे जैसे सैंकड़ों कार्यकर्ताओं के मन की बात है। उन्होंने गडकरी की इस बात के लिए प्रशंसा की है कि वह समय-समय पर राजनीति के सत्य के सम्बंध में बेबाक बात कह देते हैं।

उन्होंने कहा कि 1952-53 में जब वे राजनीति में आये और कश्मीर आन्दोलन में 8 महीने जेल में रहे, उस समय पार्टी सत्ता की नहीं सत्य की राजनीति करती थी। मूल्य आधारित राजनीति और समर्पित कार्यकर्ताओं के कारण उस समय की देश की सबसे छोटी पार्टी को भारत की जनता ने दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी बनाया।

शान्ता कुमार ने कहा की नरेन्द्र मोदी और नितिन गडकरी जैसे योग्य मंत्रियों के कारण देश में बहुत विकास हो रहा है। इसके बाद भी आर्थिक विषमता बढ़ रही है और अमीरी चमक रही है और गरीबी सिसक रही है। ग्लोबल हंगर इडेक्स रिापोर्ट के अनुसार आज भी 19 करोड़ 40 लाख लोग रात को लगभग भूखे पेट सोते हैं। यह सब देश में व्याप्त सत्ता की राजनीति के कारण है।

उन्होंने कहा कि उनकी इच्छा है कि आज देश में सबसे बड़ी पार्टी और शक्तिशाली पार्टी होने के बाद भारतीय जनता पार्टी पूरे देश की राजनीति को केवल सत्ता की नहीं, सेवा की राजनीति बनाने का प्रयत्न करें।

शान्ता कुमार ने नितिन गडकरी से आग्रह किया कि वे राजनीति छोड़ने का विचार करने की बजाय नरेन्द्र मोदी के सहयोग से इस देश की राजनीति को केवल सत्ता की नहीं, सेवा की और सत्य की राजनीति बनाने का प्रयत्न करें।

(हि.स.)

Leave a Reply

Your email address will not be published.