डब्ल्यूएचओ : एक साथ कई संकट स्वास्थ्य असमानता को तेज कर रहे हैं

मॉन्ट्रियल । कोविड-19 संकट, मुद्रास्फीति और धनी देशों द्वारा विदेशी सहायता में कटौती, स्वास्थ्य सेवाओं को बाधित कर रही है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के महानिदेशक ट्र्रेडोस एडनॉम ने ये बात कही है।
एक समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, सोमवार को 24वें अंतर्राष्ट्रीय एड्स सम्मेलन में वीडियो द्वारा भाषण देते हुए ट्रेडोस ने कहा कि बढ़ती असमानता एचआईवी के खिलाफ लड़ाई में हुई एक दशक की प्रगति को उलट सकती है।

ट्रेडोस ने कहा कि, लगभग हर देश में अमीर और गरीब के बीच की खाई चौड़ी होती जा रही है और जीवन संकट की वैश्विक लागत अधिक लोगों को गरीबी की ओर धकेल रही है।

ट्र्रेडोस ने आगे कहा है, जीवन रक्षक रोकथाम उपकरण, परीक्षण और उपचार तक पहुंच, चाहे एचआईवी, कोविड-19 और अब मंकीपॉक्स के लिए हो, अक्सर मौके पर निर्भर करता है : आप कहां पैदा हुए, आपकी त्वचा का रंग और आप कितना कमाते हैं।

उन्होंने डोनर देशों से वैश्विक स्वास्थ्य के लिए धन बनाए रखने का आह्वान किया।

वैश्विक एचआईवी समुदाय के नेताओं ने चेतावनी दी कि दुनिया एचआईवी के खिलाफ जमीन खो रही है। एचआईवी/एड्स पर यूएनएड्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, 2021 में लगभग 1.5 मिलियन यानि डेढ़ लाख नए एचआईवी संक्रमण हुए, जो वैश्विक लक्ष्य से एक मिलियन अधिक है।

यूएनएड्स की रिपोर्ट से यह भी पता चला है कि, एचआईवी के इलाज के लिए लोगों की संख्या में एक दशक से अधिक की तुलना में 2021 में अधिक वृद्धि हुई है।

कनाडा के मॉन्ट्रियल शहर में 29 जुलाई से 2 अगस्त तक चल रहे सम्मेलन में भाग लेने के लिए 9,500 से अधिक व्यक्तिगत और लगभग 2,000 आभासी प्रतिभागियों को पंजीकृत किया गया, जिसका विषय फिर से जुड़ना और विज्ञान का पालन करना है।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published.