National : संजय राउत चार अगस्त तक ईडी की हिरासत में

मुंबई, 01 अगस्त : मुंबई की एक विशेष धनशोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) अदालत ने सोमवार को मुंबई की एक चॉल के पुनर्विकास से जुड़े धन शोधन मामले में शिवसेना सांसद संजय राउत को चार अगस्त तक के लिए प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की हिरासत में भेज दिया।

श्री राउत को आज विशेष पीएमएलए कोर्ट के विशेष न्यायाधीश एमजी देशपांडे के समक्ष पेश किया गया। ईडी के विशेष लोक अभियोजक हितेन वेनेगांवकर ने श्री राउत के आठ दिन की हिरासत मांगी और कहा कि अपराध की विस्तृत जांच की आवश्यकता है।

श्री वेनेगांवकर ने कहा कि अब तक की जांच से पता चला है कि सपना पाटकर के नाम पर एक प्लॉट लिया गया था और श्री संजय राउत का भाई प्रवीण राउत उसका फ्रंट मैन था।

वकील ने कहा कि श्री राउत को चार बार तलब किया गया लेकिन वह केवल एक बार एजेंसी के सामने पेश हुए। उन्होंने सबूतों और मुख्य गवाहों के साथ छेड़छाड़ करने की भी कोशिश की।

श्री राउत के वकील अशोक मुंदरगी ने विभिन्न आधारों पर रिमांड आवेदन का विरोध करते हुए कहा कि श्री राउत की गिरफ्तारी राजनीति से प्रेरित थी और अदालत को बताया कि श्री राउत की हाल ही में सर्जरी हुई थी।

दोनों पक्षों को सुनने के बाद, न्यायाधीश देशपांडे ने कहा कि लंबी हिरासत का वारंट नहीं है और श्री राउत को केवल चार दिनों के लिए ईडी की हिरासत में भेज दिया।

श्री राउत के आवास पर 31 जुलाई को सुबह ईडी ने छापा मारा था, उनसे नौ घंटे से अधिक समय तक पूछताछ की गई थी और उन्हें एजेंसी के कार्यालयों में हिरासत में रखा गया था। ईडी कार्यालय में उनसे सात घंटे से अधिक समय तक पूछताछ की गई और फिर उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।

संजय.श्रवण

वार्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published.